पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • The Gang Included Mother daughter, Real Sisters; Everything In The Family Got Ruined In Such A Trap, All Four Arrested

फैमिली सुसाइड केस में बबली गैंग गिरफ्तार:दूसरे के घरों में काम करती है सरगना बबली; मां-बेटी और सगी बहनों से पुलिस ने की पूछताछ

भोपालएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

भोपाल में ऑटो पार्ट्स व्यापारी संजीव जोशी को कर्ज के चंगुल में फंसाने वाली बबली गैंग को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मां-बेटी और सगी बहनों से पुलिस ने पूछताछ की। महिलाओं की पहचान बबली दुबे उसकी बेटी रानी दुबे, सगी बहनें उर्मिला खांबरा और प्रमिला बेलदार के रूप में हुई है। उनको शनिवार को थाने लाया गया।
बता दें, आनंद नगर में रहने वाले संजीव जोशी ने पत्नी अर्चना, मां नंदनी, बड़ी बेटी ग्रीष्मा और छोटी बेटी पूर्वी के साथ मिलकर गुरुवार रात जहर खा लिया था। पूर्वी, ग्रीष्मा और नंदनी की मौत हो चुकी है। पति-पत्नी अस्पताल में जिंदगी के लिए जूझ रहे हैं। उन्होंने जहर खाने से पहले सोशल मीडिया में इसका वीडियो वायरल किया था, जिसमें 13 पेज का सुसाइड नोट था। जानिए जोशी परिवार कैसे कर्ज में डूबा...

संजीव जोशी संपन्न परिवार से हैं। उनके नाम 3 प्लाट, 2 दुकान और 1 मकान है। संजीव ने घर बनाने के लिए चार साल पहले 18 लाख रुपए का बैंक लोन लिया था। समय पर किस्त नहीं चुका पाने के कारण यह कर्ज करीब 27 लाख रुपए हो चुका है। बैंक की किस्त जमा न करने से संजीव काफी परेशान थे। ऐसे में वह ब्याज से पैसा देने वालों के संपर्क में आ गए।

इसी साल लॉकडाउन के दौरान उन्हें किसी ने बताया कि बबली ब्याज में पैसा देती है। संजीव ने बबली से मिलकर समस्या बताई। बबली कर्ज देने को तैयार हो गई। संजीव ने पहली बार 2% ब्याज पर 20 हजार रुपए कर्ज लिया। इसके बाद इसी तरह बबली से ब्याज पर रुपए लेते रहे। आर्थिक रूप से कमजोर बबली जान पहचान की महिलाओं से पैसा लेकर संजीव को कर्ज देती रही। बबली ने संजीव को बताया था कि नवंबर 2021 में उसे अपनी बेटी रानी की शादी करनी है, तब पैसा लौटा देना।

संजीव ने पैसा देने का वादा किया था। बबली ने नवंबर में जब पैसा मांगना शुरू किया तो संजीव टरकाते रहे। 3 लाख 70 हजार रुपए में से वह सिर्फ 80 हजार रुपए दे सके। इसी बीच उर्मिला और प्रमिला ने बबली पर पैसा देने का दबाव बनाना शुरू किया। बबली ने उनको बताया कि तुम्हारे पैसे संजीव को ब्याज में दिए हैं। वह नहीं लौटा रहा है। इस पर चारों महिलाएं संजीव के घर आकर उन्हें धमकाने लगी। इस पर भी संजीव को कोई फर्क नहीं पड़ा। महीनों से धमकी, जलील करने का सिलसिला चल रहा था। इसी मंगलवार की रात चारों फिर संजीव के घर पहुंचीं। अल्टीमेटम दिया कि तीन दिन के अंदर पैसा नहीं मिला तो लड़कियों को उठवा लेंगी। इससे संजीव काफी परेशान हो गए। उन्होंने गुरुवार की रात पूरे परिवार के साथ मिलकर जहर खा लिया।

जानिए चार महिलाओं की भूमिका
1.
बबली दुबे पति स्व. सत्यनारायण दुबे। उम्र 36 साल। बाल बिहार आनंद नगर में किराए का एक कमरा लेकर रहती है। उसके एक बेटी-एक बेटा है। बबली दूसरों के घरों में काम करती है। इसके साथ बचत के पैसों को ब्याज में देती है। जान पहचान की महिलाओं से भी पैसा लेकर ब्याज पर देती है। ब्याज वसूलने के लिए कर्जदार के घर में पहुंचकर धमकी देने के साथ जलील करती है। बबली का पति टेंट में काम करता था।

2. रानी दुबे पिता स्व. सत्यनारायण दुबे। उम्र 20 साल। बबली की बेटी है। घर में रहती है। जब कभी कर्जदार को डराने-धमकाने का काम आता है तो मां के साथ जाती है। रानी की शादी की तैयारी चल रही थी। रानी शादी से पहले सलाखों के अंदर पहुंच गई।

3. उर्मिला खांबरा पति दिनेश खांबरा। उम्र 50 साल। पटेल नगर में रहती है। गृहिणी है। पति एमपीईबी में नौकरी करता है। उर्मिला बचत के रुपए ब्याज पर चलाने के लिए बबली को देती है। बबली इससे पैसा लेकर लोगों को अधिक ब्याज पर देती है। ब्याज नहीं मिलने पर बबली के साथ डराने-धमकाने साथ जाती है। उर्मिला ने अपने पति को सूदखोरी के बारे में कुछ नहीं बताया था।

4. प्रमिला बेलदार पति बाबूलाल बेलदार। उम्र 38 साल। अशोका गार्डन में शुक्ला के चाल में कमरा लेकर रहती है। पति शुक्ला होटल सिल्वर इन में नौकरी करता है। यह उर्मिला खांबरा की छोटी बहन है। बड़ी बहन को ब्याज में रुपए चलाने के लिए देती है। उर्मिला यह पैसा प्रमिला को देती है। इसके अलावा अशोका गार्डन में खुद भी ब्याज का काम करती है।

ये भी पढ़ें...

भोपाल में पूरे परिवार ने जहर पिया, 2 की मौत: ऑटो पार्ट्स व्यापारी ने पहले कुत्ते पर ट्रायल किया

हमारी मौत पे कोई न आना आंसू बहाने...:भोपाल की 3 महिलाओं के चंगुल में फंसा परिवार

भोपाल सुसाइड मामले में खुलासा: ऑटो पार्ट्स व्यापारी की बेटी ने दोस्तों-रिश्तेदारों को भेजा था मैसेज- साइंटिस्ट बनना था

खबरें और भी हैं...