पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • The Chief Minister Will Finalize The Draft With The Chief Secretary And DGP This Evening, After Which The Notification Will Be Issued.

भोपाल-इंदौर में लागू होगा पुलिस कमिश्नर सिस्टम:CM की मुख्य सचिव व DGP के साथ हुई चर्चा, अगली बैठक 4 दिसंबर को, फिर जारी होगा नोटिफिकेशन

भोपाल7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भोपाल और इंदौर में पुलिस कमिश्नर सिस्टम अब लागू होने में एक सप्ताह का वक्त लग सकता है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस और डीजीपी विवेक जौहरी के साथ प्रस्तावित ड्राफ्ट मंत्रालय में बुधवार को देर शाम बैठक की। करीब आधे घंटे चली बैठक में दोनों अफसरों ने नए सिस्टम के ड्राफ्ट में किए प्रावधानों की सिलसिलेवार जानकारी दी। इसके बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि ड्राफ्ट को फाइनल करने के लिए एक बैठक और की जाएगी, ताकि कमी या खामी ना रह जाए। अगली बैठक 4 दिसंबर के बाद होगी। इसके बाद मुख्यमंत्री इसे हरी झंडी दे सकते हैं। इसके बाद बाद कैबिनेट और विधानसभा से मंजूरी की जरूरत नहीं होगी।

मंत्रालय सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री को शाम 6:30 बजे हरिद्वार रवाना होना था, इसलिए उन्होंने लौटने के बाद फिर बैठक कर ड्राफ्ट को सहमति देने की बात कही है। मुख्यमंत्री 3 दिसंबर शाम को भोपाल लौटेंगे, लेकिन अगले ही दिन सुबह वे पाताल पानी में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने रवाना हो जाएंगे। वहां से लौटकर शाम को ड्राफ्ट पर चर्चा करेंगे। दोनों शहरों में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू होने में 3-4 दिन का वक्त लग सकता है। बता दें कि भोपाल के 32 थाने और इंदौर के 34 थाना क्षेत्रों में यह पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू करने की तैयारी है।

मुंबई की तर्ज पर क्राइम ब्रांच, ट्रैफिक सिस्टम
भोपाल-इंदौर में मुंबई की तर्ज पर क्राइम ब्रांच, ट्रैफिक के लिए अलग-अलग डीसीपी नियुक्ति होंगे। इनके अधीन दो-दो एसपी स्तर के अधिकारी तैनात रहेंगे। क्राइम ब्रांच को संगीन अपराधों की विवेचना, छानबीन का काम सौंपा जाएगा। इसी तरह शहर की यातायात व्यवस्था को दुरस्त करने का जिम्मा ट्रैफिक डीसीपी के पास रहेगी।

नगर निगम सीमा के सभी थाने शामिल होंगे
बतादें, गृह मंत्री डा. नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व में बताया था कि दोनों शहरों के नगर निगम सीमा में आने वाले थाने इसमें शामिल होंगे। देहात के थाने नहीं रहेंगे, लेकिन देहात के जिन थानों में शहरी क्षेत्र आता है, उन्हें शामिल किया जाएगा। दोनों जिलों में अलग-अलग पुलिस आयुक्त रहेंगे। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त स्तर के तीन-तीन, उपायुक्त स्तर के 8 अधिकारी, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त स्तर के 12, सहायक पुलिस आयुक्त स्तर के 28 अधिकारी पदस्थ किए जाएंगे।

अभी भोपाल के 32 थाने और इंदौर के 34 थाना क्षेत्रों में यह पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू करने की तैयारी है। जिस दिन अधिसूचना निकलेगी, उसी दिन अधिकारियों की पोस्टिंग कर दी जाएगी। इसे न कैबिनेट में लाने की आवश्यकता है, न ही विधानसभा में लाने की। हम पांच अलग-अलग प्रकार के नोटिफिकेशन जारी करेंगे। इसी हफ्ते विधि विभाग से अनुमोदन होने के बाद वित्त को जाने के बाद यह सूचना निकालेंगे।

CM ने की थी घोषणा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 21 नंवबर रविवार को भोपाल और इंदौर में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू करने की घोषणा की थी। इसके अगले दिन सोमवार को पुलिस मुख्यालय ने ड्राफ्ट तैयार कर राज्य शासन को भेज दिया था।