पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

BJP विधायक का समर्थक निकला धर्मांतरण का मास्टरमाइंड!:भोपाल में रामेश्वर शर्मा के साथ मंच पर बैठा,बधाई पोस्टर लगाए; सफाई में बोले...

भोपाल3 महीने पहलेलेखक: अनूप दुबे
  • कॉपी लिंक

भोपाल के क्राइस्ट मेमोरियल स्कूल में डेढ़ साल से गरीब हिंदुओं को क्रिश्चियन बनाने का मामला सामने आया है। मुख्य आरोपी स्कूल संचालक मेनिज मैथ्यूज भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा का समर्थक निकला। उसने सोशल मीडिया पर विधायक रामेश्वर शर्मा के साथ के और कार्यक्रम के फोटो शेयर किए हैं। वह भाजपा के बड़े-बड़े कार्यक्रम में भी शामिल होता रहा है।

पुलिस ने आरोपी मैथ्यूज पर हिंदू धर्म का अपमान करने के साथ ही लालच देकर गरीब हिंदुओं के धर्म परिवर्तन करने की धाराएं लगाई हैं। बैरागढ़ पुलिस इस मामले में अब तक आरोपी मैथ्यूज समेत 6 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। विधायक रामेश्वर शर्मा का कहना है कि किसी के साथ फोटो खिंचवाने से या मंच पर होने से वह निर्दोष नहीं होता है। राजनेताओं का सार्वजनिक जीवन होता है, जिसमें सभी लोग आते हैं। फोटो खिंचवाते हैं। भारत में किसी भी हिन्दू को जबरन ना तो मुस्लिम बनने दिया जाएगा और ना ही क्रिस्चियन। हिंदुओं के खिलाफ षड्यंत्र को बेनकाब किया जाएगा। सभी दोषियों को खिलाफ कार्रवाई होगी।

इधर, मैथ्यूज ने पुलिस को बताया कि करीब डेढ़ साल से राजेश मालवीय के कहने पर उसने उन लोगों को स्कूल में प्रार्थना करने के लिए जगह दी थी। हर रविवार को वहां पर राजेश मालवीय, उसकी बेटी रितिका मालवीय, लालघाटी में रहने वाला होटल संचालक राहुल कुमार, कामिनी जॉन और पॉल पोलुस के साथ 15 से 20 लोग आते थे। भोपाल के आसपास के गरीब हिंदुओं को लालच देकर भोपाल लाया जाता था।

उनका ब्रेन वॉश कर उन्हें क्रिश्चियन बनाया जाता था। यहां रितिका लोगों को क्रिश्चियन धर्म की अच्छी बातों के बारे में बताती थी, जबकि राजेश उनका धर्म परिवर्तन कराता था। पुलिस स्कूल संचालक समेत 6 लोगों को अब तक आरोपी बना चुकी है। इनमें दो महिलाएं शामिल हैं। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा खुद अब इस मामले में पूरी नजर रखे हैं।

मास्टरमाइंड मेनिज मैथ्यूज क्राइस्ट मेमोरियल स्कूल का संचालक है। उसने स्कूल परिसर में ही एक बड़ा हॉल राजेश मालवीय को प्रार्थना आदि के लिए उपलब्ध कराया था। रविवार के दिन कोई बाहरी अंदर न आ सके इसके लिए पूरी नजर रखी जाती थी। स्कूल में रविवार को क्या होता है मैथ्यूज के अलावा किसी और को पता नहीं होता था। सूत्रों की माने तो यह डेढ़ साल नहीं बल्कि कई सालों से चल रहा था। हमेशा लोगों की संख्या 15 से 20 ही होती थी, ताकि एक जैसी संख्या रहने से किसी को संदेह न हो।

यह है पूरा मामला
दो दिन पहले बैरागढ़ पुलिस ने एक युवक की शिकायत पर क्राइस्ट मेमोरियल स्कूल में छापा मारा था। इस दौरान स्कूल के हॉल में बड़ी संख्या में हिंदू लोग मिले थे। सीहोर का रहने वाला राजेश मालवीय अपनी बेटी रितिका मालवीय और अन्य लोगों के साथ उन लोगों को हिंदू धर्म को बुरा बताकर उन्हें क्रिश्चियन धर्म अपनाने के लिए प्रेरित कर रहे थे। पुलिस ने मौके से चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया था। इसमें राजेश, रितिका, कामिनी और पोलुस पकड़ा गया था, जबकि मैथ्यूज और राहुल फरार हो गए थे। पुलिस ने उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया था।

ये भी पढ़िए:-