पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सांसद प्रज्ञा का दिग्विजय पर तंज:नर्मदा परिक्रमा करने से कोई अधर्मी पवित्र नहीं हो जाता है; नाराज कांग्रेस विधायक ने मंच छोड़ा

भोपालएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सांसद प्रज्ञा सिंह। - Money Bhaskar
सांसद प्रज्ञा सिंह।

एमवीएम मैदान पर दशहरा उत्सव राजनीति की भेंट चढ़ गया। सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस ने उन्हें बहुत प्रताड़ित किया है। मैं कुछ दिन नजर नहीं आई तो कांग्रेस ने मेरे खिलाफ गुमशुदगी की शिकायत कर दी। मैं दर्द में थी तो मुझे प्रताड़ित किया, मेरे खिलाफ पोस्टर लगाए, लेकिन भोपाल उत्तर के विधायक 3 साल से नहीं दिखाई दे रहे हैं तो हम चुप हैं, क्योंकि वे बीमार हैं।

यह संवेदना की बात है। यह हमारे संस्कार हैं। लोकसभा चुनाव का जिक्र करते हुए प्रज्ञा ने कहा कि वे खुद को नर्मदा पुत्र कहते थे, मैंने कहा मैं तो राष्ट्र की बेटी हूं। नर्मदा परिक्रमा करने से कोई अधर्मी पवित्र नहीं हो जाता। प्रज्ञा ने कांग्रेस नेताओं को हिंदू विरोधी भी कहा। इस दौरान मंच पर मौजूद विधायक पीसी शर्मा ने नाराज होकर कार्यक्रम का बहिष्कार कर दिया।

शर्मा ने कहा कि भगवा वस्त्रधारी सांसद ने मां नर्मदा का अपमान किया है। पहली बार दशहरा के मंच पर राजनीतिक बातें हुई हैं। यह बहुत आपत्तिजनक है। हम सांसद के विरोध का अभियान चलाएंगे। प्रज्ञा सिंह को स्वास्थ्य के आधार पर जमानत मिली हुई है, वह निरस्त होना चाहिए।

प्रज्ञा ने बैरागढ़ में भी उनके खिलाफ ट्विट करने वाले नेता को चेतावनी देते हुए कहा कि सुधर जाओ, नहीं तो बुढ़ापा बिगड़ जाएगा, बल्कि अगला जन्म भी खराब हो जाएगा। उन्होंने कहा कि वे कुछ खिलाड़ियों के कहने पर कुछ देर के लिए मैदान में चली गई तो उसकी क्लिप बनाकर मजाक उड़ाया जा रहा है।