पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भोपाल में 12वीं के छात्र का सुसाइड:पेपर से एक दिन पहले ट्रेन से कटा; लिखा- आई लव डैड मोस्ट, मेरी मौत पर दुख न करना, ये प्लान था

भोपाल7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भोपाल में पेपर के एक दिन पहले 12वीं के छात्र ने ट्रेन से कटकर सुसाइड कर लिया। मरने के पहले उसने सोशल मीडिया पर 5 इमोशनल पोस्ट कीं। इनमें उसने लड़कियों द्वारा नापसंद किए जाने से लेकर मरने का दिन तय करने तक की बात लिखी। उसने मां और पापा के बारे में भी लिखा। उसके बाद से ही परिजन उसकी तलाश करने लगे थे, लेकिन वह नहीं मिला। देर रात एमपी नगर पुलिस को उसका शव रचना नगर में रेलवे ट्रैक पर मिला। उसकी गर्दन धड़ से अलग हो गई थी।

एमपी नगर पुलिस को रचना नगर रेलवे ट्रैक पर गुरुवार रात करीब एक बजे अज्ञात शव पड़े होने की सूचना मिली थी। एसआई रमाशंकर खरे ने बताया कि मौके पर बैग मिला। इसमें आई कार्ड रखा था। इससे उसकी पहचान दि बिलर अपार्टमेंट बैरागढ़ के रहने वाले प्रणव भोले (17) पुत्र रमेश भोले के रूप में हुई।

परिजनों ने मौके पर पहुंचकर उसकी पहचान की। उन्होंने बताया कि प्रणव केंद्रीय विद्यालय बैरागढ़ में 12वीं का छात्र था। वह गुरुवार शाम को कोचिंग जाने का कहकर घर से निकला था। देर शाम प्रणव के नागपुर में रहने वाले ममेरे भाई ने उन्हें फोन किया। उसने बताया कि प्रणव ने सोशल मीडिया पर कुछ इमोशनल पोस्ट की हैं।

परिजन प्रणव को तलाशने लगे, लेकिन देर रात तक उसका कुछ नहीं पता नहीं चला। जीआरपी की मदद से पुलिस ने जब उसके सीसीटीवी फुटेज देखे, तो प्रणव रात को भोपाल रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर-2 पर देखा गया।

घर से करीब 15 किलोमीटर दूर आया

बैरागढ़ में रहने वाला प्रणव घर से करीब 15 किलोमीटर दूर सुसाइड करने आया। पुलिस को आशंका है कि वह बैरागढ़ रेलवे स्टेशन से भोपाल स्टेशन आया होगा। इस कारण वह एमपी नगर तक पहुंच गया। हालांकि, काई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

शुक्रवार को अंग्रेजी का पेपर था

एसआई खरे ने बताया कि शुक्रवार को प्रणव का अंग्रेजी विषय का पेपर था। परिजनों से पूछताछ में पता चला कि वह पढ़ने में अच्छा था। ऐसे में उन्हें समझ नहीं आ रहा कि उसने यह कदम क्यों उठाया। इधर, पुलिस को आशंका है कि हो सकता है कि पेपर की तैयारी से नहीं हो पाई हो। इसी कारण उसने यह कदम उठाया। हालांकि, सुसाइड नोट नहीं मिलने के कारण पुलिस खुलकर कुछ भी नहीं बोल रही।

इकलौता बेटा था

रमेश सरकारी विभाग में कार्यरत बताए जाते हैं। उनका भौंरी में ऑफिस हैं। एसआई खरे ने बताया कि प्रणव इकलौता बेटा था। उसकी एक बहन है। घटना के बाद से ही परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। इस कारण उनसे ज्यादा कुछ बातचीत नहीं हो पाई है।

ऐसे पता चला

रमेश ने पुलिस को बताया कि शाम को प्रणव के ममेरे भाई ने नागपुर से फोन किया था। प्रणव ने सोशल मीडिया पर कुछ इमोशनल पोस्ट की थीं। हालांकि, उन्होंने पोस्ट के बारे में पुलिस को कुछ नहीं बताया। पोस्ट करने के बाद प्रणव ने मोबाइल फोन बंद कर दिया था। एमपी नगर आने के कारणों का पता नहीं चल पाया है।

सोशल मीडिया पर इस तरह इमोशनल पोस्ट किए

प्रणव ने सोशल मीडिया पर यह पोस्ट गुरुवार शाम किए। इसमें उसने पांच पोस्ट की हैं।

पहली पोस्ट : 2/12/ 2021 आज मेरी मौत का दिन है...

दूसरी पोस्ट : जब यह तुम पढ़ रहे होंगे, तब तक मैं इस दुनिया से जा चुका होऊंगा...

तीसरी पोस्ट : टेल माय माॅम...

चौथी पोस्ट : किसी में भी मुझे समझने की क्षमता नहीं...

पांचवीं पोस्ट : लड़कियों ने मुझे बहुत नकारा है, लेकिन वे मुझे जानने के बाद नकार नहीं पाएंगी...

इंदौर में 10th स्टूडेंट का सुसाइड:पिता ने देखा तो पढ़ाई कर रही थी, सुबह फंदे पर लटकी मिली, आज था मेथ्स का पेपर

खबरें और भी हैं...