पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 के परिणाम आज:इंदौर को 5वीं बार मिल सकता है नंबर-1 का खिताब, भोपाल के टॉप-5 में आने के चांस, दिल्ली में मिलेंगे अवॉर्ड

भोपाल9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Money Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 के परिणाम कुछ घंटे बाद ही घोषित होंगे। इनमें इंदौर को 5वीं बार नंबर-1 का खिताब हासिल हो सकता है। 2017 से ही इंदौर देशभर में नंबर-1 की पोजिशन पर है। पिछले सर्वेक्षण में इंदौर ने सफाई का चौका जड़ा था। वहीं, भोपाल के टॉप-5 में आने के चांस हैं। पिछली बार भोपाल 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में नंबर-7 पर था। MP को विभिन्न कैटेगिरी में कुल 35 सम्मान मिलने की उम्मीद है।

शनिवार को दिल्ली के विज्ञान भवन में राष्ट्रपति डॉ. रामनाथ कोविंद की मौजूदगी में विजेता शहरों और प्रदेशों को सम्मानित किया जाएगा। देश के सबसे साफ शहरों की श्रेणी में इंदौर ही प्रबल दावेदारी मानी जा रही है। पिछले 4 साल से इंदौर नंबर-1 पर बना हुआ है। इस बार भी इंदौर ने खूब मेहनत की है। इसके चलते इस बार भी देश के सबसे साफ शहरों में अव्वल आने की प्रबल दावेदारी मानी जा रही है।

भोपाल ने 3 कैटेगिरी में दावा

स्वच्छ सर्वेक्षण में बेहतर प्रदर्शन करने वाले शहरों की श्रेणी में इंदौर-भोपाल समेत उज्जैन, देवास, होशंगाबाद और बड़वाहा को नामांकित किया गया है। भोपाल ने 3 कैटेगिरी में दावा ठोका है। इसके चलते उसे स्टार रेटिंग (गार्बेज फ्री सिटी), सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज और स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 के लिए नामित किया गया है। सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज में अव्वल आने पर 12 करोड़ रुपए मिलेंगे। सेकेंड आने पर 6 करोड़ और थर्ड आने पर 3 करोड़ रुपए की पुरस्कार राशि दी जाएगी। पिछले साल भोपाल देश के सबसे साफ शहरों में सातवें नंबर पर था।

भोपाल की भानपुर खंती से कचरे का पहाड़ खत्म करना बड़ी कामयाबी बताई जा रही है। वहीं, आदमपुर छावनी में लैंडफिल साइट से कचरा साफ करने की कवायद भी की गई है। ऐसे में अबकी बार टॉप-5 में आने की उम्मीद है।

इन शहरों का भी दावा

  • सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज में इंदौर, भोपाल और देवास ने राष्ट्रीय पुस्कारों की श्रेणी में अपना स्थान बनाया है। इसमें इन्हें कौन सी पॉजिशन मिलेगी, यह घोषणा के दौरान पता चलेगा।
  • स्टार रेटिंग में इंदौर, भोपाल, उज्जैन, देवास, होशंगाबाद, ग्वालियर, सिंगरौली, मूंदी, बुरहानपुर, राजगढ़ और धार समेत 25 शहरों ने दावा किया है।
  • मध्यप्रदेश को उत्कृष्ट श्रेणी में प्रदर्शन के लिए नामांकित किया गया है।

पिछले सर्वेक्षण में 27 सम्मान

स्वच्छ सर्वेक्षण-2020 में प्रदेश को कुल 27 सम्मान मिले थे। इसमें 18 शहर स्टार रेटिंग और 9 शहर स्वच्छ सर्वेक्षण के लिए थे। इस बार 35 से ज्यादा अवार्ड मिलने की उम्मीद है।

खबरें और भी हैं...