पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX58649.681.76 %
  • NIFTY17469.751.71 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479790.62 %
  • SILVER(MCX 1 KG)612240.48 %

केंद्रीय भूमिगत जल बोर्ड के निर्देश:हाउसिंग सोसायटियों को ग्राउंड वाॅटर निकालने के लिए लेना होगी एनओसी

भोपाल3 महीने पहलेलेखक: राहुल शर्मा
  • कॉपी लिंक
अब बोर में मीटर भी लगेंगे, तय मात्रा से ज्यादा पानी लिया तो लगेगी पेनाल्टी। - Money Bhaskar
अब बोर में मीटर भी लगेंगे, तय मात्रा से ज्यादा पानी लिया तो लगेगी पेनाल्टी।
  • केंद्रीय भूमिगत जल बोर्ड ने कलेक्टर को दिया मॉनिटरिंग का अधिकार

प्रदेश में ग्राउंड वाटर निकालने के लिए अब एनओसी लेना अनिवार्य किया गया है। यह अनिवार्यता घरेलू ट्यूबवेल को छोड़कर अन्य सभी को लेना होगी। अधिकारियों के मुताबिक हाउसिंग सोसायटी, अपार्टमेंट, कमर्शियल कॉम्पलेक्स को भी एनओसी लेना अनिवार्य रहेगा। एमएसएमई की श्रेणी में आने वाले उद्योगों को भी इसके लिए http://cgwa-noc.gov.in पर आवेदन करना होगा।

केंद्रीय भूमिगत जल बोर्ड ने कलेक्टर को भी इसकी मॉनिटरिंग का अधिकार दिया है। इसकी समय-समय पर जांच होगी। एनओसी न लेने वालों पर पैनल्टी लगेगी। जिन्होंने एनओसी ली है, उनके बोरिंग में भी मीटर लगेंगे और उसकी चैकिंग भी समय-समय पर होगी। तय मात्रा से ज्यादा पानी निकाला गया है तो उस पर शुल्क भी अदा करना होगा।

सिर्फ घरेलू और कृषि के लिए रहेगी छूट

केंद्रीय भूमिजल बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि घरेलू उपयोग और कृषि के लिए ट्यूबवेल करने पर किसी तरह की एनओसी की आवश्यकता नहीं होगी। इसकी मुख्य वजह है कि घर पर उपयोग होने वाले बोरिंग से बोरिंग स्वामी सीमित मात्रा में ही पानी निकालता है। इसके अलावा औद्योगिक उपयोग के लिए भी एनओसी लेना अनिवार्य किया गया है। शहरी क्षेत्र में रेसीडेंशियल अपार्टमेंट, हाउसिंग सोसायटी को भूजल के लिए इसका निकासी प्रभार देना होगा।

राज्य सरकार की जिम्मेदारी

अधिकारियों के मुताबिक यह राज्य सरकार की जिम्मेदारी हाेगी कि वह ड्रिल किए गए कुओं का डाटा रखें। इस संबंध में सीजीडब्ल्यूए के पोर्टल पर आंकड़े उपलब्ध करवाने के लिए लिंक भी दिए जाएंगे। मुख्य बात यह है कि एनओसी पांच साल के लिए वैध होगी। एनओसी समाप्ति के 90 दिन के भीतर इसके नवीनीकरण के लिए आवेदन करना होगा।

विलंब शुल्क भी लगेगा

अफसरों के मुताबिक 30 जून 2020 तक एनओसी के आवेदन करना थे। लेकिन, लोगों को इसकी जानकारी नहीं थी। जो भी इस दायरे में आएंगे, उन्हें 24 सितंबर 2020 से भूजल निकासी शुल्क सहित विलंब शुल्क का भुगतान करना होगा। ऐसे आवेदकों को 31 मार्च 2022 तक पर्यावरण क्षतिपूर्ति शुल्क से छूट दी जाएगी।

इन्हें नहीं लेना होगी एनओसी

  • पेयजल और घरेलू उपयोग के लिए ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में घरेलू उपभोक्ता।
  • ग्रामीण पेजयल स्कीम में आने वाले।
  • सशस्त्र बलों के प्रतिष्ठान और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल।
  • कृषि कार्यों के लिए।
  • 10 सीयूएम प्रतिदिन से कम भूजल का आहरण करने वाले माइक्रो और स्माल उद्योग।

कमर्शियल उपयोग के लिए भूजल निकालने पर इसकी एनओसी आवश्यक है। इसलिए सभी संबंधित इसे अवश्य लें। इसके लिए ऑनलाइन आवेदन किए जा सकते हैं।
-पीके जैन, क्षेत्रीय निदेशक, केंद्रीय भूजल बोर्ड

भूजल निकासी दरें (रेसिडेंशियल अपार्टमेंट, हाउसिंग सोसायटी के लिए)

महीने मेंं निकाले पानी की मात्रा भूजल निकासी प्रभार की दर

  • 0-25 घनमीटर कोई प्रभार नहीं
  • 26-50 घनमीटर 1 रुपए प्रति घनमीटर
  • 50+ घनमीटर 2 रुपए प्रति घनमीटर
खबरें और भी हैं...