पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भोपाल में 9वीं के स्टूडेंट्स का सुसाइड:कमरे में करीब 10 घंटे फंदे पर लटका रहा; तीन महीने पहले ही भोपाल आया था

भोपालएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

भोपाल में 9वीं के एक स्टूडेंट्स ने फांसी लगाकर सुसाइड कर ली। वह करीब 10 घंटे तक फंदे पर लटका रहा। ज्यादा देर तक शव के फंदे पर लटके रहने के कारण उसका शरीर अकड़ गया था। बड़ा भाई सुबह जब उसे उठाने कमरे में पहुंचा, तब उन्हें इसका पता चला। छात्र ने मरने से पहले सुसाइड नोट नहीं लिखा है। वह तीन महीने पहले ही भोपाल में आया था। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। परिजनों के बयान होने के बाद सुसाइड के कारणों का पता चल सकेगा।

मूलत: हरदा निवासी 16 गुंजन उर्फ निक्की पुत्र चंद्रशेखर शर्मा कैलाश नगर सेमरा, अशोका गार्डन में बड़े भाई विमल शर्मा के साथ रह रहा था। अशोका गार्डन पुलिस स्टेशन के एएसआई जयवीर सेंगर ने बताया कि ने बताया कि विमल एक बिल्डर के यहां जॉब करता है। शुक्रवार को विमल ने पुलिस को गुंजन के फांसी लगाने की सूचना दी थी। मौके पर पहुंचने पर गुंजन कमरे में फंदे पर मिला। उसका शरीर अकड़ चुका था। उसकी करीब 10 घंटे पहले ही मौत हो चुकी थी। वह औद्योगिक क्षेत्र में एक स्कूल में 9वीं की पढ़ाई कर रहा था।

खाना खाने के बाद कमरे में चला गया

विमल ने पुलिस को बताया कि उसने दो कमरे किराए से ले रखे हैं। एक कमरे में वह पत्नी और बच्चे के साथ रहता है, जबकि दूसरे कमरे में गुंजन रहता था। गुरुवार रात खाना खाने के बाद गुंजन कमरे में सोने चला गया। सुबह देर तक उसने कमरे का दरवाजा नहीं खोला। सुबह करीब 9 बजे वह उसे उठाने पहुंचे, तो वह फांसी लगा चुका था।

तीन महीने पहले ही भोपाल आया

विमल ने बताया कि वे मूलत: हरदा के रहने वाले हैं। परिजन हरदा में ही रहते हैं। वह करीब तीन माह पहले ही गुंजन को भोपाल लेकर आएंगे थे। वे उसे अच्छी पढ़ाई करना चाहते थे।

खबरें और भी हैं...