पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59005.270.88 %
  • NIFTY175620.95 %
  • GOLD(MCX 10 GM)463320.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)602350.53 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Broken Cycle Track, Hordes Of Animals On It; Bhopal Out Of The Top 25 List Of Cycle For Change Due To This Feedback From The People

ट्रैक से उतरी साइकिल:टूटा-फूटा साइकिल ट्रैक, उस पर जानवरों का जमघट; लोगों के इसी फीडबैक से साइकिल फॉर चेंज की टॉप-25 की लिस्ट से भोपाल बाहर

भोपाल2 महीने पहलेलेखक: भीम सिंह मीणा
  • कॉपी लिंक
होशंगाबाद रोड पर 12 किमी लंबा ट्रैक 5 करोड़ रुपए में तैयार किया गया था। इस पर अब तक 10 करोड़ रुपए खर्च हो चुके हैं। - Money Bhaskar
होशंगाबाद रोड पर 12 किमी लंबा ट्रैक 5 करोड़ रुपए में तैयार किया गया था। इस पर अब तक 10 करोड़ रुपए खर्च हो चुके हैं।
  • जबलपुर में सड़क समिति, इंदौर ने खामियां दूर की... और सागर ने बनाया प्लान
  • ट्रैक और स्टैंड बनाने व मेंटेनेंस पर भोपाल में 10 करोड़ हो चुके खर्च

साइकिलिंग को बढ़ावा देने के लिए 6 साल पहले राजधानी में पब्लिक बाइक शेयरिंग कांसेप्ट लाया गया और होशंगाबाद रोड पर 12 किमी लंबा ट्रैक 5 करोड़ रुपए में तैयार किया गया था। इस पर अब तक 10 करोड़ रुपए खर्च हो चुके हैं।

हकीकत यह है कि साइकल्स फॉर चेंज चैलेंज सर्वे में भोपाल टॉप 25 की सूची में भी स्थान नहीं बना पाया है। यह सूची केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय की ओर से जारी की गई है। विभाग की तरफ से इंडिया साइकिल्स फाॅर चेंज चैलेंज के तहत यह सूची बनाई गई है। इसमें देश के 107 शहरों में सर्वे किया गया था। सर्वे में मप्र से भोपाल के अलावा इंदौर, जबलपुर, सागर, सतना और उज्जैन शहर शामिल थे। इनमें इंदौर, जबलपुर और सागर का नाम टॉप 25 सूची में शामिल है। हालांकि इन तीनों को टॉप 11 में स्थान नहीं मिल सका है। जबलपुर को ज्यूरी ने स्पेशल कैटेगरी के तहत देश के 4 शहरों में शामिल किया है।

  • जबलपुर - यहां तमाम ऑफिसर्स, यूथ लीडर ने साइकिलिंग प्रमोट करने ढेरों रैलियों, वेबिनार ड्राइंग कॉम्पटिशन आयोजित किए। अलग साइकिल लेन बनाई। लोगों को प्रेरित किया। एक सड़क समिति बनाई, जिसमें अफसर, नेता और अन्य प्रमुख नागरिक शामिल थे।
  • इंदौर - शहर में 2000 साइकिल स्टोर और स्टैंड हैं, जहां से 1 लाख लोग साइकिल किराए पर लेते हैं। इंदौर ने साइकिल को पुनर्जीवित करने के लिए साइकिल लेन में आ रही कमियों को दूर किया और रैेलियां आयोजित करके साइकिल चलाने के लिए प्रेरित किया।
  • सागर - सागर की लाखा बंजारा झील के पास साइकिलिंग के लिए माहौल बनाया। स्कूल, पर्यटन स्थल, पार्क और स्टेडियम को झील से जोड़ा गया। सागर ने एक पॉप-अप साइकिल लेन बनाई। साइकिल अधिक से अधिक किराए पर लेने के लिए अपना प्लान बनाया।
  • भोपाल क्यों पिछड़ा - जब यह सर्वे शुरू हुआ तो टीम ने पाया कि यहां के ट्रैक पर साइकिल कम और पार्किंग अधिक हो रही है। लोगों नेे फीडबैक में बताया कि साइकिल ट्रैेक जगह-जगह से टूटा हुअा है। सफाई नहीं होती। कुत्ते-मवेशी बैठे रहते हैं जो साइकिल चलाने वालों के पीछे भागते हैं।

भोपाल ने इतना किया खर्च

केंद्र ने 2016 में साइकिलिंग के लिए जिन शहरों चयन किया, उनमें भोपाल का भी नाम आया। होशंगाबाद रोड पर 12 किमी के ट्रैक बनाने पर 5 करोड़, स्मार्ट रोड किनारे ट्रैक बनाने पर 2 करोड़ और साइकिल स्टेंड व साइकिल रखने पर 3 करोड़ रुपए खर्च किए गए।

इधर, नेक्स्ट लेवल का दावा

हमारा नाम पहले से ही स्टेज टू में है। हम पहले से ही सलेक्ट हैं, क्योंकि भोपाल में बेस्ट साइकिल ट्रैक बने हुए हैं। 500 साइकिल भी चल रही हैं। हम अब नेक्सट लेवल की तैयारी कर रहे हैं। -आदित्य सिंह, सीईओ, स्मार्ट सिटी भोपाल

साइकिलिंग में टॉप-11 ...1. बेंगलुरु (कर्नाटक) 2. भुवनेश्वर(ओडिशा) 3. चंडीगढ़(पंजाब) 4. कोहिमा (नागालैंड) 5. नागपुर, (महाराष्ट्र) 6. न्यू टाउन कोलकाता(प. बंगाल) 7. पिंपरी चिंचवाड़ (महाराष्ट्र) 8. राजकोट(गुजरात) 9. सूरत, )(गुजरात) 10. वडोदरा (गुजरात) 11. वारंगल (तेलंगाना)

स्पेशल कैटेगरी फॉर साइकिलिंग पॉयोनियर्स सिटी...
1. दावणगेरे (कर्नाटक) 2. हैदराबाद(तेलंगाना) 3. इंदौर(मप्र) 4. काकीनाडा, (आंध्रप्रदेश) 5. कोच्चि, (केरल) 6. नासिक(महाराष्ट्र) 7. नई दिल्ली 8. पणजी, (गोवा) 9. सागर (मप्र) 10. उदयपुर(राजस्थान)

चैलेंज ने साइकिलिंग के लिए शहरों को बदला है

भारत साइकिल्स फॉर चेंज चैलेंज ने न केवल साइकिलिंग के लिए शहरों को बदला है, बल्कि देशभर के शहरों में साइकिलिंग के लिए चैंपियनों का एक ग्रुप तैयार करने में मदद की है। -कुणाल कुमार, संयुक्त सचिव एवं मिशन निदेशक, स्मार्ट सिटी मिशन, आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय, भारत सरकार

  • 12 किमी का ट्रैक, बना है होशंगाबाद रोड पर। स्मार्ट रोड पर करीब पौने दो किमी लंबा ट्रैक है।
  • 107 शहरों में सर्वे किया गया था। सितंबर 2020 में हुआ था सर्वे
  • 01 करोड़ रुपए मिलेंगे टॉप 25 में से 11 शहरों को विशेष पुरस्कार के तहत।
खबरें और भी हैं...