पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57064.87-0.34 %
  • NIFTY16975.15-0.46 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47917-0.1 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61746-1.71 %

भोपाल में कहां कितना पानी गिरा जाने:18 दिन में नवीबाग, शहर और कोलार में 8-8 इंच पानी गिरने से सेहत सुधरी; नतीजा केरवा डैम के गेट खुले, बैरसिया में सबसे कम 5 इंच पानी गिरा

भोपाल2 महीने पहलेलेखक: अनूप दुबे
  • कॉपी लिंक

राजधानी भोपाल में अब तक सितंबर शुभ रहा है। जून में अच्छी बारिश के बाद जुलाई में सूखा रहा, तो सितंबर में रिमझिम तो होती रही, लेकिन तेज बारिश का इंतजार करना पड़ा। एक समय तो भोपाल की बारिश का कोटा सामान्य से कम हो गया था, लेकिन बीते 18 दिन की बारिश ने भोपाल को राहत दी है। अब राजधानी में बारिश सामान्य से अधिक हो गई है।

इसी कारण केरवा डैम के इस सीजन में पहली बार गेट खुल सकें हैं, जबकि भदभदा डैम के गेट खुलने का इंतजार है। सितंबर में भोपाल शहर, कोलार और नवीबाग में सबसे ज्यादा बारिश हुई। यहां पर 8-8 इंच तक पानी गिर गया, जबकि बैरसिया में सबसे कम 5 इंच और बैरागढ़ में करीब 7 इंच पानी गिरा।

अब हालत में सामान्य हुए

मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि भोपाल में जून में झमाझम बारिश हुई थी, जो सामान्य से कई गुना ज्यादा थी, लेकिन फिर मानसून ब्रेक के कारण हालत बिगड़ने लगे थे। अगस्त में तो यह सामान्य से काफी नीचे चली गई थी। एक सितंबर की स्थिति में भोपाल में कुल 31 इंच बारिश हुई थी, जो सामान्य से करीब 4% कम थी। बीते 18 दिन में भोपाल में 8 इंच तक पानी गिर गया, जिससे अब सामान्य से 2 इंच यानी 4% बारिश ज्यादा हो गई है। भोपाल में 1 जून से अब तक करीब सामान्य तौर पर 37 इंच पानी गिरता है।

सितंबर भोपाल के किस इलाके में कितना पानी गिरा

इलाकेबारिश इंच में
नवीबाग8.11
कोलार8.07
सिटी8.04
बैरागढ़7.12
बैरसिया5.14

16 सितंबर को सबसे ज्यादा पानी गिरा

भोपाल में बीते 18 दिन से लगातार बारिश हो रही है। शहर में तकरीबन हर दिन पानी गिरा, जबकि बैरसिया में कम दिनों में बारिश हुई। सबसे कम पानी 7 और 8 सितंबर को रहा। दोनों दिन सिर्फ सिटी में ही बूंदाबांदी हुई, जबकि अन्य इलाके सूखे रहे। सबसे ज्यादा बारिश वाला दिन 16 सितंबर रहा। चौबीस घंटों के दौरान पांचों इलाकों में बारिश हुई। सबसे ज्यादा शहर में करीब 2 इंच पानी गिरा था, जबकि बैरसिया में सबसे कम आधा इंच बारिश हुई थी। बैरागढ़, कोलार और नवीबाग में भी करीब 2-2 इंच तक पानी गिरा था। बैरसिया में 18 दिन में 8 दिन सूखे रहे।

भदभदा के गेट खुलने का इंतजार

भोपाल के केरवा डैम के गेट शुक्रवार को खुल थे, अभी भी उसमें लगातार पानी आ रहा है। हालांकि सीहोर में बारिश कम होने के कारण बड़ी झील का लेवल अभी 1665.50 फीट तक पहुंच पाया है। यह फुल टैंक लेवल 1666.86 फीट से 1.36 फीट कम है। इससे ज्यादा पानी आने पर ही भदभदा के गेट खुल पाएंगे। लोगों को अभी भदभदा के गेट खुलने का इंतजार करना होगा। कोलार डैम में 1501.67 फीट पानी भरा है, जो 1516 फीट से काफी कम है। कलियासोत डैम में भी 1659 फीट के मुकाबले 1649.44 फीट भर पाया है।

खबरें और भी हैं...