पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • 9 New Cases Again In Bhopal, 5 In Indore, 2 In Jabalpur And 1 Positive In Ashoknagar; 124 Active Cases In The State

MP में दो स्कूली बच्चे समेत 17 नए केस:इंदौर में 5 में 3 संक्रमित एक ही परिवार के, इनमें दो बच्चे भी; भोपाल में 9 केस

मध्यप्रदेश7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इंदौर में ओल्ड जीडीसी कॉलेज की महिला प्रोफेसर भी संक्रमित

मध्यप्रदेश में कोरोना केस बढ़ते जा रहे हैं। 24 घंटे में 17 मामले सामने आए हैं। इनमें सबसे ज्यादा 9 पॉजिटिव भोपाल के हैं। इंदौर में 5, जबलपुर में 2 और अशोकनगर में 1 पॉजिटिव केस मिले हैं। इंदौर से चिंता वाली खबर यह है कि वहां जो 5 केस आए हैं, उनमें से 3 एक ही परिवार के हैं। इनमें भी दो स्कूली बच्चे हैं। इससे पहले बच्चों की मां की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी। इस तरह एक ही परिवार के कुल 4 लोग संक्रमित मिले हैँ।

इंदौर में ओल्ड जीडीसी कॉलेज की महिला प्रोफेसर भी संक्रमित मिली है। इसके बाद वहां हड़कंप मच गया है। 12 दिन के भीतर प्रदेश में 188 केस मिल चुके हैं। एक्टिव केस 124 हैं। ऐसे में 1 दिसंबर से ही प्रदेशभर में मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर सख्ती बढ़ गई है।

कोरोना के मामले में भोपाल और इंदौर हॉट स्पॉट हैं। यहां हर दिन बड़ी संख्या में पॉजिटिव मिल रहे हैं। जबलपुर, ग्वालियर, रायसेन, दमोह, शहडोल, बैतूल, होशंगाबाद, श्योपुर और बड़वानी में पॉजिटिव केस मिल रहे हैं। 24 घंटे में भोपाल, इंदौर, जबलपुर और अशोकनगर में पॉजिटिव केस मिले हैं। अशोकनगर में कई दिन के बाद पॉजिटिव केस मिला है। इस कारण स्वास्थ्य विभाग संक्रमितों की कॉन्टैक्ट और ट्रैवल हिस्ट्री की जांच करा रहा है, ताकि पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आने वालों के भी टेस्ट कराए जा सके।

इंदौर में कॉलेज प्रोफेसर संक्रमित, मचा हड़कंप
माता जीजाबाई शासकीय कन्या स्नात्तकोतर महाविद्यालय (ओल्ड जीडीसी) की महिला प्रोफेसर की कोरोना रिपोर्ट बुधवार को पॉजिटिव आई। इसके बाद कॉलेज में हड़कंप मच गया। प्रिंसिपल डॉ. श्री द्विवेदी के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग को इसकी जानकारी दी गई। सभी छात्राओं को मास्क लगाने की निर्देश दिए गए। साथ ही, उनका वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट भी चेक किया गया। जिन छात्राओं का वैक्सीनेशन नहीं हुआ था, उन्हें बुधवार को कॉलेज नहीं आने दिया गया। महिला प्रोफेसर ने सरकारी और प्राइवेट जगह टेस्ट कराए थे, जहां रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। प्रिंसिपल के मुताबिक महिला प्रोफेसर के पति की रिपोर्ट भी पॉजिटिव होने की बात पता चली है।

कॉलेज में ही करवाई जांच
महिला प्रोफेसर की क्लास और उनके संपर्क में आई करीब 50 से ज्यादा स्टूडेंट्स का आरटीपीसीआर टेस्ट करवाया गया है। महिला प्रोफेसर के संपर्क में आए करीब 12 प्रोफेसर समेत प्रिंसिपल ने भी जांच करवाई है। इनकी रिपोर्ट आना बाकी है। प्रिंसिपल ने बताया कि जिस क्लास में प्रोफेसर पढ़ाती थी, उसे बंद कर दिया गया है। विभाग को भी अगले तीन दिन के लिए सील कर दिया गया है। संपर्क में आए प्रोफेसरों को तीन दिन तक कॉलेज नहीं आने के लिए कहा है।

भोपाल में संक्रमित को होम आइसोलेशन नहीं करेंगे

भोपाल में संक्रमितों को काटजू हॉस्पिटल में भर्ती किया जा रहा है। होम आइसोलेशन की व्यवस्था खत्म कर दी गई है। एडीएम संदीप केरकट्टा ने बताया भोपाल जिले में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। कोरोना को फैलने से रोकने के लिए उन्हें अस्पतालों में ही रखा जाएगा। इसके साथ उनकी ट्रैवल हिस्ट्री और उनके संपर्क वाले लोगों का भी कोरोना टेस्ट किया जाएगा और जिन व्यक्तियों का सैंपल लिया गया है उन सबको भी आइसोलेशन में रखा जाएगा। कॉल सेंटर व्यवस्था भी शुरू कर दी गई है।

बीते 5 दिन में 33 कोरोना पॉजिटिव
देखा जाए तो इंदौर में रोजाना आरटीपीसीआर और रैपिड एंटीजन के माध्यम से कोरोना की जांच की जा रही है। आंकड़ों की बात करें तो 26 नवंबर से लेकर 30 नवंबर तक 33 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आ चुके हैं। अभी की स्थिति 42 एक्टिव केस हैं। आंकड़ों पर नजर डालें तो जिस प्रकार कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में उतार चढ़ाव देखने को मिला है। उसी प्रकार सैंपलिंग या कहें की कोरोना की जांच के आंकड़ों में भी उतार-चढ़ाव नजर आ रहा है।

प्रदेश में 58 हजार से ज्यादा टेस्ट

प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 58 हजार 653 कोरोना के टेस्ट किए गए। एक दिन पहले यह आंकड़ा 53 हजार था। CM शिवराज सिंह चौहान ने टेस्ट बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

12 लोग ठीक हुए
प्रदेश में 24 घंटे में 12 लोग स्वस्थ भी हुए हैं। वहीं, अभी प्रदेश में एक्टिव केस बढ़कर 124 हो गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार प्रदेश में अब तक 7 लाख 93 हजार 178 लोग पॉजिटिव हो चुके हैं। इनमें से 7 लाख 82 हजार 526 ठीक हो गए। कोरोना के कारण 10 हजार 528 लोग जान गंवा चुके हैं। प्रदेश में रिकवरी रेट 98% से ज्यादा है।

खबरें और भी हैं...