पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX58461.291.35 %
  • NIFTY17401.651.37 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47394-0.41 %
  • SILVER(MCX 1 KG)60655-1.89 %

गुना में दो गांजा तस्कर गिरफ्तार:सीधे उड़ीसा के लिए चलती है बीकानेर-पुरी ट्रेन; इसलिए यहां के तस्कर उड़ीसा लेने जाते हैं गांजा

गुना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गुना पुलिस ने उडिशा से गांजा लेकर गुना पहुंचे दो तस्करों को गिरफ्तार किया है। उडिशा में पुलिस की सख्ती के कारण इस बार तस्करों को ज्यादा माल नहीं मिल पाया, इसलिए केवल दो किलो गांजा लेकर ही वह गुना आए थे। आरोपियों पर पहले से ही कई राज्यों में मादक पदार्थ की तस्करी के मामले दर्ज हैं। उडिशा में जिसने इन्हें गांजा दिया, पुलिस ने उसे भी आरोपी बनाया है।

SP राजीव कुमार मिश्रा ने बताया कि उकावद पुलिस चौकी प्रभारी SI जयवीर सिंह बघेल को सूचना मिली कि भोपाल वाली बस से दो व्यक्ति ढोका मंदिर चौराहे पर उतरे हैं, जो अपने हाथों में बैग लिए हुए हैं, जिनमें गांजा भरा हुआ है। इस सूचना पर पुलिस टीम ढोका मंदिर चौराहे पर पहुंची। वहां उन्हें दो लोग हाथों में बैग लिए खड़े हुए दिखाई दिए, जिन्हें पुलिस ने पकड़ लिया। दोनों ने अपने नाम रूपेन्द्र (25) पुत्र दशरथ पुरी गोस्वामी एवं ईश्वर (32) पुत्र बाबूलाल रजक निवासी ग्राम बड़ौद, थाना मृगवास बताया। उनकी तलाशी लेने पर दोंनो के बैग से 1-1 किलो गांजा मिकी। इसकी कीमती करीबन 20 हजार रुपये आंकी गई है।

ऐसे करते हैं तस्करी

पुलिस की गिरफ्त में आए दोनों तस्करों पर गुना, अशोकनगर, राजस्थान सहित कई अन्य जगह तस्करी के मामले दर्ज हैं। ये दोनों गांजे के बड़े तस्कर हैं। गुना से उडिशा के लिए एक सीधी ट्रेन चलती है। बीकानेर से चलकर उडिशा के पुरी जाने वाली ट्रेन से ये सोमवार को उडिशा के लिए निकले। मंगलवार सुबह उडिशा पहुंचे। वहां के सोनपुर जिले के रहने वाले अरविंद साहू से इनका संपर्क हुआ। ये पहले भी अरविंद साहू से गांजा लाते रहे हैं। उसके अलावा भी इनके कई और गांजा सप्लाई करने वालों से संपर्क हैं।

मंगलवार को उडिशा के पुरी पहुंचकर अरविंद साहू के यहां पहुंचे। इस बार उडिशा में पुलिस की काफी सख्ती चल रही है। इसलिए इन्हें ज्यादा गांजा नहीं मिला। केवल दो किलो गांजा उसके घर पर रखा हुआ था। वहीं गांजा ये लेकर आए। गांजे का पेमेंट ऑनलाइन कराया गया। वह भी गुना के एक व्यक्ति ने किया। आजकल ये लोग अपने साथ ज्यादा नकदी नहीं लेकर जाते हैं। इसके पीछे कारण यह है कि अगर वहां पुलिस पकड़े तो ज्यादा कैश न मिले। एक बार गांजे की डील हो जाने के बाद यह अपने व्यक्ति को गुना में पबताते हैं जो ऑनलाइन पेमेंट करता है।

पुलिस की गिरफ्त में गांजा तस्कर
पुलिस की गिरफ्त में गांजा तस्कर

वहां से दो किलो गांजा लेने के बाद ये दोनों ट्रेन से भोपाल पहुंचे। वहां से बस के द्वारा मधुसूदनगढ़ इलाके के उकवाद पहुंचे। वहां बस से उतारकर मोटरसाइकिल से ये आगे जाने वाले थे, लेकिन इससे पहले ही पुलिस ने इन्हें पकड़ लिया। एक और बात इनके मामले में सामने आई है वह यह कि ये लोग कभी भी एक वाहन से पूरी यात्रा नहीं करते हैं। बीच में ही उस वाहन से उतर जाते हैं। इसी तरह इस बार भी ये मधुसूदनगढ़ पहुंचने से पहले ही उकवाद में ही बस से उतर गए।

आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि दोनों आरोपी उडिशा के सोनपुर के रहने वाले किसी अरविंद साहू नाम के व्यक्ति से गांजा खरीद कर लाते हैं। उसे गुना जिले में सप्लाई करते हैं। इसलिए पुलिस ने मामले में अरविंद साहू निवासी सोनपुर, उड़ीसा को भी आरोपी बनाया गया है। दोनों आरोपी महज 10वी पास हैं। ज्यादा पढ़ना-लिखना भी इन्हें नहीं आता। लगभग 5 वर्षों से ये गांजे की तस्करी कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...