पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वैक्सीनेशन:81.63% बच्चों को लगा पहला डोज, अब घर-घर जाएगी टीम

अशोकनगर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना की तीसरी लहर में संक्रमण के साथ वैक्सीनेशन भी सबसे अधिक चर्चा में है। कारण, अभी तक के सभी निष्कर्ष यही माने रहे हैं कि तेजी से बढ़ रहे संक्रमण के बीच वैक्सीनेशन ही बचाव का हथियार साबित हो रहा है। 3 जनवरी से शुरु हुए वैक्सीनेशन में बच्चों का रिस्पॉन्स व उत्साह भी ऐसा है कि इस मामले में सारे बड़े उम्र वर्ग पीछे छूट गए। जिले में 14 दिन में ही 81.63% बच्चों ने अपनी पहली डोज लगवा ली है, जबकि 18 प्लस को यह मुकाम हासिल करने में महीनों लग गए थे।

दरअसल, 3 जनवरी से वैक्सीनेशन के लिए जिले में 53 हजार 593 बच्चों को चिन्हित किया गया था। इस अभियान को रविवार को पूरे 14 दिन हो गए। अब तक 43 हजार 751 बच्चे वैक्सीन लगवा चुके हैं। यानी 81.63% बच्चे को सुरक्षा का पहला कवच लग चुका है। रविवार को 206 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। जिसमें प्रीकॉशन डोज के साथ ही अन्य लोगों की वैक्सीन शामिल रही। अब तक जिले में 11 लाख 77 हजार 165 लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। जिनमें पहला टीका 6 हजार 22 हजार 559 तथा दूसरा टीका 5 लाख 52 हजार 302 लोगों को लगा है।

तीसरे डोज की धीमी गति
10 जनवरी से सुरक्षा का तीसरा डोज लगवाना शुरु हुआ है, लेकिन इसकी गति काफी धीमी है। अब तक 2 हजार 304 लोगों को ही ये टीका लग सका है।

खबरें और भी हैं...