पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस कंट्रोल रूम में हुई कार्यशाला:नशे के आदी व्यक्ति को समाज में हेय की दृष्टि से देखा जाता हैः अली

भिंड2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पुलिस द्वारा 2 अक्टूबर से 30 नवंबर तक नशा मुक्ति अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत पुलिस कंट्रोल रूम में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन पुलिस विभाग द्वारा किया गया। कार्यशाला में मुख्य वक्ता के रूप में प्रो. इकबाल अली और सूबेदार अखिलेश शर्मा मौजूद रहे।

प्रो. इकबाल अली ने कहा कि नशा एक अभिशाप है। यह एक ऐसी बुराई है, जिससे इंसान का अनमोल जीवन समय से पहले ही मौत का शिकार हो जाता है। वहीं नशे का आदी व्यक्ति को समाज में हेय की दृष्टि से देखा जाता है। नशे करने वाला व्यक्ति परिवार के लिए बोझ स्वरूप हो जाता है। उसकी समाज एवं राष्ट्र के लिया उपादेयता शून्य हो जाती है।

वह नशे से अपराध की ओर अग्रसर हो जाता है तथा शांतिपूर्ण समाज के लिए अभिशाप बन जाता है। नशा अब एक अंतरराष्ट्रीय विकराल समस्या बन गई है। दुर्व्यसन से आज स्कूल जाने वाले छोटे-छोटे बच्चों से लेकर बड़े-बुजुर्ग और विशेषकर युवा वर्ग बुरी तरह प्रभावित हो रहा है। इस अभिशाप से मुक्ति पा लेने में ही समाज की भलाई है।

खबरें और भी हैं...