पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • 400 Patients Tested In Ayurveda Camp, Dr. Sharma Said Ayurveda Is The World's Oldest System Of Medicine

निःशुल्क आयुर्वेद शिविर का आयोजन:निःशुल्क आयुर्वेद  शिविर में 400 मरीजों  का परीक्षण , डॉ. शर्मा ने कहा विश्व की सबसे पुरानी चिकित्सा पद्धति है आयुर्वेद

भिंड4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिविर के शुभारंभ के दौरान डॉक्टर मरीजों को देखने के लिए बैठे हुए । - Money Bhaskar
शिविर के शुभारंभ के दौरान डॉक्टर मरीजों को देखने के लिए बैठे हुए ।

शहर के प्राचीन कुंडेश्वर महादेव मंदिर में रविवार को स्व. पंडित वैद्यराज जनमेजय शर्मा की पुण्यतिथि स्मृति में निशुल्क आयुर्वेद चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में 400 से अधिक मरीजों के स्वास्थ्य की जांच की गई, साथ ही उनको निशुल्क दवाएं भी उपलब्ध कराई गई। इस अवसर पर मुख्य रूप से सेवानिवृत्त आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी डॉ. विश्वनाथ शर्मा मौजूद रहे। शिविर का शुभारंभ करते हुए डॉ. विश्वनाथ शर्मा ने कहा कि आयुर्वेद सबसे पुरानी चिकित्सा पद्धति होने के साथ आयुर्वेद में कहा जाता है कि इस धरती पर पाई जाने वाली हरेक जड़, हरेक पत्ता, हरेक पेड़ की छाल का औषधीय गुण है, लेकिन अभी हमने केवल कुछ का ही इस्तेमाल करना सीखा है।

बाकी के बारे में हमें अभी तक पूरी जानकारी नहीं है। जिसकी वजह से हम आयुर्वेद का पूरा फायदा नहीं उठा रहे है। कुछ लोगों को आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति भा रही है और वह इसका पूरा फायदा उठा रहे हैं। उन्होंने बताया कि स्व. पंडित वैद्यराज जनमेजय शर्मा की पुण्यतिथि स्मृति में वर्ष 2009 से निशुल्क शिविर आयोजित होता आ रहा है। इस समय कोरोना काल में आयुर्वेद का अधिक महत्व बढ़ा है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुर्वेद ही एकमात्र विकल्प है। इसी क्रम में वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. राधेश्याम शर्मा ने कहा कि आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति प्राचीन चिकित्सा पद्धति है। जिसमें लगभग सभी रोग जड़ से समाप्त हो जाते है।

शिविर के दौरान इन रोगों का हुआ उपचार
शिविर के दौरान जुकाम, खांसी, बुखार, श्वा ंस,मलेरिया, पील िया, खून की कमी, उच्च रक्तचाप,मधुमेह, ;आमवात, बवासीर, उदर रोग, चर्म रोग, हृदय रोग, अनिद्रा एवं स्त्री रोग श्वेत एवं रक्त प्रदर, पुरुषों में धातु क्षय एवं नपुंसकता के मरीजों का परीक्षण कर के उन्हें निःशुल्क औषधियां भी प्रदान की गई। इस मौके पर डॉ. रमेशबाबू शर्मा, डॉ. ;बीएन भारद्वाज, , डॉ. इन्द ्रप्रकाश त्रिपाठी, डॉ एस के राजोरिया डॉ नारायण स्वरूप श्रीवास्तव ,डॉ. विश्वनाथ शर्मा, आशुतोष शर्मा उर्फ नंदू आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...