पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बलिदान दिवस मनाया:पराक्रम की पराकाष्ठा थीं रानी दुर्गावती : वराठे

बैतूल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रानी दुर्गावती वीर होने के साथ कुशल प्रशासक भी थीं, उनका नाम हमेशा इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज रहेगा। सरस्वती शिशु विद्या मंदिर कालापाठा में शुक्रवार को हमलापुर एवं अर्जुन वार्ड में संचालित संस्कार केंद्र में रानी दुर्गावती का बलिदान दिवस मनाया। इसमें बालिका शिक्षा की जिला प्रमुख संगीता गंगारे, संध्या साहू, मंजू वासनिक दीदी, उषा डोंगरे, सुरेखा वैद्य, संगीता राठौर, अनिता धोटे दीदी और बच्चे मौजूद थे। इस अवसर पर बच्चों ने दुर्गावती का वेष धारण किया।

श्रीमती शीला वराठे ने कहा रानी दुर्गावती के सुखी और संपन्न राज्य पर मालवा के शासक बाज बहादुर ने कई बार हमला किया, पर हर बार वह पराजित हुआ। रानी पराक्रम की पराकाष्ठा थीं। इस अवसर पर बच्चे, अभिभावक और शाला स्टाफ मौजूद था।

खबरें और भी हैं...