पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बालाघाट में SP के सख्त तेवर:जमानत कराने के नाम पर दो आरक्षकों ने ली रिश्वत, SP ने किया निलंबित

बालाघाट7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोतवाली थाना, बालाघाट - Money Bhaskar
कोतवाली थाना, बालाघाट

जिले के कोतवाली थाने में पदस्थ दो आरक्षकों द्वारा एक वारंटी से जमानत कराने के नाम पर तीन हजार रुपए की रिश्वत लेने का मामला सामने आया है। मामले की जानकारी मिलते ही SP अभिषेक तिवारी ने दोनों आरक्षकों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर लाइन अटैच कर दिया। थाना प्रभारी केएस गहलोत ने पुष्टि करते हुए बताया कि मामले में दो आरक्षकों को निलंबित किया गया है।

जानकारी के अनुसार, आरक्षक मिथिलेश नर्रे और शरद यादव को मारपीट के मामले में गिरफ्तार स्थायी वारंटी हसन सिद्दीकी निवासी काली मंदिर के परिजनों से दोनों आरक्षकों ने संपर्क कर हसन की वकील के माध्यम से जमानत कराने का आश्वासन दिया था। इसलिए आरक्षकों ने परिजनों से तीन हजार रुपए की मांग की थी। परिजनों ने उक्त राशि दे दी, लेकिन जब वारंटी हसन को न्यायालय में पेश किया गया तब वहां उसका कोई अधिवक्ता पेश नहीं हुआ। जिस वजह से जमानत पर सुनवाई नहीं हो सकी और न्यायालय ने वारंटी हसन को जेल भेज दिया।

जिसके बाद पूरा मामला परिजनों ने कोतवाली पहुंचकर थाना प्रभारी केएस गहलोत को बताई। गहलोत ने मामले की गंभीरता को देखते हुए पूरे मामले से SP और सीएसपी को जानकारी दी गई। एसपी तिवारी द्वारा तत्काल प्रभाव से दोनों आरक्षकों को निलंबित कर लाइन अटैच की कार्रवाई की गई।