पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तालाब निर्माण के विरोध में नक्सलियों ने फेंके पर्चे:​​​​​​​बालाघाट जिले में बैहर क्षेत्र के बिठली चौकी के पास मिले पर्चे, जांच में जुटी पुलिस

बालाघाट9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मिला पर्चा। - Money Bhaskar
मिला पर्चा।

मुखबिरी के शक में दो ग्रामीणों की हत्या करने के हफ्तेभर बाद नक्सलियों ने फिर अपनी सक्रियता दिखाई है। शनिवार को बैहर क्षेत्र की बिठली पुलिस चौकी के किशनदी के पास नक्सली पर्चे मिलने की खबर मिली है। उक्त पर्चे मलाजखंड एरिया कमेटी ने फेंके हैं।

जानकारी के अनुसार, नक्सलियों ने पर्चों के माध्यम से बिठली, सोनगुड्डा और दुलापूर पंचायत में राशन वितरण करने वाले सेल्समैन दिलीप सिंह भूरिया को चेतावनी भरे लहजे में ग्रामीणों को बिना बहाना किए राशन देने और आदरपूर्वक व्यवहार करने की चेतावनी दी है।

इसके अलावा नक्सलियों ने जिला प्रशासन को धमकी देते हुए जल और जंगल पर आदिवासियों के अधिकार की बात कही है। मामले में एसडीओपी (बैहर) आदित्य प्रताप मिश्रा का कहना है कि पुलिस को मलाजखंड एरिया कमेटी के फेंके पर्चे मिलने की सूचना है। पुलिस ने पर्चे जब्त कर जांच के साथ इलाके में सर्चिंग तेज कर दी है।

यह पर्चा भी मिला।
यह पर्चा भी मिला।

पर्चे में प्रशासन व योजनाओं का जिक्र

पर्चे में नक्सलियों ने पोला-पटपरी, लोटना से लेकर माटे पालागोंदी सहित अन्य गांवों में बड़े तालाबों के निर्माण योजनाओं का जिक्र करते हुए इसे ग्रामीण व आदिवासियों के लिए परेशानी का कारण बताया है। पर्चे के मुताबिक, लोटना और पोला पटपरी में तालाब निर्माण कार्य शुरू होने को है, दोनों जगह का सर्वे हो चुका है। पोला-पटपरी में तालाब बन जाने से पोला महाजनटोला और जामटोला आदि गांवों के कुल 11 परिवारों की जमीन डूब जाएंगी। आदिवासियों को जंगल से उपयोगी चीजें लाने और मवेशियों को चराने में समस्याएं खड़ी हो रही हैं।