पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अनूपपुर में इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विश्वविद्यालय पर भ्रष्टाचार का आरोप:200 बिस्तर का छात्रावास केवल कागजों पर बना, ग्रामीणों ने की जांच की मांग

अनूपपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विश्वविद्यालय में भ्रष्टाचार के आरोप कई बार लग चुके हैं। ग्रामीणों ने 30 जुलाई को एसडीएम पुष्पराजगढ़ अभिषेक चौधरी को 50 पन्नों के ज्ञापन सौंपा था। ज्ञापन में उन्होंने लिखा था कि विश्वविद्यालय में निर्माण कार्य व अन्य मामलों की जांच की जानी चाहिए। पोड़की के पूर्व सरपंच शिवरतन धुर्वे के नेतृत्व में ग्रामीणों ने ज्ञापन सौंपा था। उन्होंने विश्वविद्यालय के 4 प्रोफेसर पर भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया था। ज्ञापन की प्रतिलिपि प्रधानमंत्री, केंद्रीय शिक्षा मंत्री एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भेजा गया था। एसडीएम पुष्पराजगढ़ ने मामले की जांच के लिए 6 माह का समय मांगा था। उसके बाद भी अभी तक जांच अधूरी है।

धरातल पर छात्रावास गायब

ग्रामीणों ने ज्ञापन मे बताया कि पिछड़ा वर्ग के लिए 200 बिस्तरों के छात्रावास का निर्माण विश्व विद्यालय परिषद में होना था। उसके लिए राशि भी जारी की गई थी। लेकिन विश्व विद्यालय परिषद में छात्रावास धरातल पर नहीं है। भारत सरकार को गलत जानकारी दी गई है। उसकीराशि का दुरुपयोग किया गया है। इसकी जांच करवाएं तो प्रकरण सामने आएगा। आशीष भराडे, एसडीओपी पुष्पराजगढ़ ने बताया कि विश्वविद्यालय प्रबंधक ने इन मामलों में हाईकोर्ट से स्थगन की बात की है। जिसके दस्तावेज मांगे गए इसी के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...