पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59015.89-0.21 %
  • NIFTY17585.15-0.25 %
  • GOLD(MCX 10 GM)46178-0.54 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61067-1.56 %

बिल्डर से 15 करोड़ की वसूली का आरोप:परमबीर सिंह के खिलाफ दर्ज केस की जांच के लिए SIT गठित, उनके पांच करीबी पुलिस अधिकारियों का हुआ तबादला

मुंबई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एंटीलिया केस में आरोपी सचिन वझे को सपोर्ट करने के आरोप में परमबीर सिंह का तबादला होमगार्ड विभाग में कर दिया गया था। - Money Bhaskar
एंटीलिया केस में आरोपी सचिन वझे को सपोर्ट करने के आरोप में परमबीर सिंह का तबादला होमगार्ड विभाग में कर दिया गया था।

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। राज्य सरकार के गृह विभाग ने सिंह के खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच के लिए 7 सदस्यीय SIT टीम गठित कर दी है। इस टीम की अध्यक्षता डीसीपी स्तर के अधिकारी करेंगे। परमबीर और अन्य 5 पुलिस अधिकारियों के खिलाफ मुंबई के मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन में बिल्डर राधेश्याम अग्रवाल ने मकोका का झूठा केस लगाकर 15 करोड़ वसूलने का आरोप लगाया है।

अग्रवाल के खिलाफ जुहू पुलिस स्टेशन में दर्ज मकोका के केस की जांच भी SIT की टीम करेगी। परमबीर के कमिश्नर रहने के दौरान अग्रवाल पर छोटा शकील से संबंध होने का आरोप लगाते हुए मकोका का केस हुआ था।

SIT टीम में कौन-कौन हैं शामिल?
परमबीर सिंह और 5 अन्य अधिकारियों के खिलाफ मामले की जांच के लिए बनी SIT में निमित गोयल (पुलिस उपायुक्त), एम.एम.मुजावर (सहायक पुलिस उपायुक्त), प्रिणम परब (पुलिस निरीक्षक, आर्थिक अपराध शाखा), सचिन पुराणिक (पुलिस निरीक्षक, वसूली विरोधी टीम), विनय घोरपडे (पुलिस निरीक्षक), महेंद्र पाटील (सहायक पुलिस निरीक्षक, क्राइम ब्रांच), विशाल गायकवाड (सहायक पुलिस निरीक्षक, पश्चिम विभाग, साइबर पुलिस ठाणे) शामिल हैं।

सभी आरोपी पुलिस अधिकारियों का हुआ तबादला
इस जांच से पहले मुंबई में परमबीर सिंह के करीब माने जा रहे पांच पुलिस अधिकारियों का तबादला भी कर दिया गया है। इसमें 2 DCP, 2 ACP और एक महिला इंस्पेक्टर शामिल हैं। इनपर भी परमबीर सिंह के साथ वसूली करने का आरोप अग्रवाल ने लगाया है।

इन अधिकारियों का हुआ तबादला

  • डीसीपी डिटेक्शन अकबर पठान
  • पराग मनेरे डीसीपी EOW
  • संजय पाटिल एसीपी
  • श्रीकांत शिंदे एसीपी
  • आशा कोंकरे, इंस्पेक्टर

इसके अलावा ठाणे शहर के कोपरी में दर्ज एफआईआर में परमबीर सिंह के साथ पराग मनेरे का नाम भी शामिल है। इसी मामले में सभी 5 लोगों को लोकल आर्म्स विभाग जिसे साइड पोस्टिंग विभाग भी माना जाता है वहा भेज दिया गया है।

बिल्डर का परमबीर पर आरोप
राधेश्याम अग्रवाल ने बताया कि उनके खिलाफ फर्जी मामला दर्ज किया गया था और उनसे करीब 15 करोड़ की मांग की गयी थी। कहा गया था इन पैसों के बाद उन पर कानूनी कार्रवाई नहीं की जाएगी। आरोप यह भी लगाए गए कि ये सब साल 2016 से चल रहा था। बिल्डर ने अपनी शिकायत में मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह और अन्य का नाम लिया था। इस संदर्भ में बिल्डर के दो पार्टनर सुनील जैन और संजय पूर्णिमा को मामले में गिरफ्तार किया गया है।

इन धाराओं में दर्ज हुआ केस
मुंबई के मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन में परमबीर और अन्य पांच पर आईपीसी की धारा 387, 388, 389, 403, 409, 420, 423, 464, 465, 467, 468, 471, 120 (b), 166, 167, 177, 181, 182, 193, 195, 203, 211, 209, 210, 347, 109, 110, 111,113 के तहत केस दर्ज किया गया था।

खबरें और भी हैं...