पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %

महाराष्ट्र में कोरोना का खतरा बढ़ा:नागपुर और मुंबई में तीसरी लहर शुरू, मंत्री और मेयर ने किया दावा; गणेश पर्व घर में मनाने की सलाह

मुंबई3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा है कि फिलहाल कहीं भी पाबंदी बढ़ाने पर विचार नहीं, पर बढ़ते आंकड़ों पर सरकार की नजर बनी है।

महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे के दौरान 3,626 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं और 37 लोगों की मौत हुई है। मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने मंगलवार को कहा कि मुंबई में तीसरी लहर आ चुकी है। हमें बेहद सतर्क रहने की जरूरत है। इधर, राज्य के ऊर्जा मंत्री नितिन राऊत ने कहा कि नागपुर में दोगुनी रफ्तार से कोरोना केस मिल रहे हैं। इसे देखकर कहा जा सकता है कि शहर में कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है।

पेडनेकर ने कहा, ‘मुंबई में तीसरी लहर आ नहीं रही है, बल्कि आ चुकी है। कोरोना का फैलाव रोकने के लिए पाबंदियां लगाने का हक राज्य सरकार को है। जरूरी होने पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे फैसला करेंगे। इस बीच लोगों से विनती है कि वे खुद को संभालें।' उन्होंने गणेशोत्सव पर सार्वजनिक आयोजन से बचने की राय दी और घर पर ही पूजा-पाठ करने को कहा।

नागपुर में लग सकते हैं कड़े प्रतिबंध
ऊर्जा मंत्री नितिन राऊत ने कहा कि कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए जल्द ही कोविड आपदा प्रबंधन बल की बैठक होगी। कुछ पाबंदियां लगाने का फैसला लिया गया है, लेकिन इसके बारे में जनता के प्रतिनिधियों के साथ बात करके अंतिम फैसला लिया जाएगा। राउत ने कहा कि स्थानीय प्रशासन कोविड से जुड़ी पाबंदियों का जल्द ही ऐलान कर सकता है।

विदर्भ क्षेत्र में अगस्त में कोरोना के केस तेजी से नीचे आए थे। कई दिनों से इस क्षेत्र में कोरोना से जुड़ी एक मौत भी नहीं हुई। नागपुर जिले में 17 अगस्त से सारी पाबंदियां हटा ली गई थीं। दूसरे हिस्सों के मुकाबले अगस्त में विदर्भ रीजन में कोविड मामलों में तेज गिरावट देखी गई थी। विदर्भ के नागपुर जिले में अगस्त में सिंगल डिजिट मामले ही रिपोर्ट हो रहे थे, लेकिन लगातार दो दिनों से यहां डबल डिजिट मामले रिपोर्ट हो रहे हैं।

गणेशोत्सव की तैयारी करने वालों को नियमों का ध्यान रखने की सलाह
कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने मंगलवार को कहा कि केरल में ओणम त्योहार के दौरान भीड़ की वजह से कोविड के मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ था। इसे देखते हुए राज्य सरकार गणेश विसर्जन के लिए तैयारियां कर रही हैं और लोगों से भी अपील करती है कि कोविड गाइडलाइंस का पालन करें।

उद्धव बोले- त्योहार से ज्यादा जिंदगी अहम
एक दिन पहले उद्धव ठाकरे ने कहा था कि हम बाद में पर्व मना सकते हैं। हम अपने लोगों की जिंदगी और सेहत को प्राथमिकता दें। नए केस में बढ़ोतरी के मद्देनजर हालात काबू से बाहर जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि कौन पर्व मनाने और धार्मिक कार्यक्रमों पर रोक लगाना चाहेगा? लेकिन लोगों की जिंदगी अहम है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले त्योहारों के समय अहम और चुनौतीपूर्ण हैं। यह राजनीतिक दलों की जिम्मेदारी है कि स्थिति नियंत्रण से बाहर न जाए। ठाकरे ने कहा कि कोविड-19 की तीसरी लहर आपके दरवाजे पर खड़ी है। केरल में रोजाना 30 हजार मामले आ रहे हैं। यह खतरनाक संकेत हैं और अगर हमने इसे गंभीरता से नहीं लिया तो महाराष्ट्र को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी।

पिछले 24 घंटे के दौरान कहां-कितने मरीज मिले
महाराष्ट्र के पुणे डिविजन में पिछले 24 घंटे के दौरान 1267, मुंबई में 728, नासिक सर्कल में 953, कोल्हापुर सर्कल में 517 और नागपुर सर्कल में सबसे कम 14 नए मामले सामने आए हैं। नागपुर में सिंगल डिजिट मामलों के कारण 17 अगस्त से लगभग सारी पाबंदियां हटा ली गयीं थीं, अब डबल डिजिट मामलों ने सख्तियों की तलवार फिर लटकी है। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा है कि फिलहाल कहीं भी पाबंदी बढ़ाने पर विचार नहीं, पर बढ़ते आंकड़ों पर सरकार की नजर बनी है।

खबरें और भी हैं...