पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX60741.2-0.3 %
  • NIFTY18127.65-0.28 %
  • GOLD(MCX 10 GM)475300.32 %
  • SILVER(MCX 1 KG)648840.32 %
  • Business News
  • Local
  • Maharashtra
  • Mumbai
  • When The Tourists Of Maharashtra Gujarat Turned Their Backs On Kashmir, The Officials Of The Tourism Department Reached Mumbai To Invite, 24 Lakh Tourists Came To Jammu In Three Months.

अनूठी पहल:महाराष्ट्र-गुजरात के टूरिस्टों ने कश्मीर से मुंह मोड़ा तो टूरिस्ट विभाग के अधिकारी न्यौता देने मुंबई पहुंचे, तीन महीने में 24 लाख टूरिस्ट जम्मू आये

मुंबईएक महीने पहलेलेखक: विनोद यादव
  • कॉपी लिंक
बुधवार को जम्मू और कश्मीर टूरिजम के अधिकारी मुंबई पहुंचे और लोगों को कश्मीर आने के न्यौता दिया। - Money Bhaskar
बुधवार को जम्मू और कश्मीर टूरिजम के अधिकारी मुंबई पहुंचे और लोगों को कश्मीर आने के न्यौता दिया।

कश्मीर वैली में वहां के कई स्थानीय संगठनों द्वारा भारत सरकार विरोधी ताकतों को मदद करने से नाराज महाराष्ट्र और गुजरात के टूरिस्टों ने अब कश्मीर घूमने जाने से परहेज करना शुरू किया है। इस बात की भनक लगते ही पर्यटन विभाग कश्मीर के निदेशक डॉ. जीएन इट्टू, पर्यटन विभाग जम्मू के निदेशक विवेकानंद राय और ट्रेवल एजेंट्स एसोसिएशन ऑफ कश्मीर (टीएएके) के अध्यक्ष फारूक ए कुथू ने बुधवार को मुंबई के वाय.बी. चव्हाण सेंटर में संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस कर महाराष्ट्र के टूरिस्टों को जम्मू-कश्मीर पर्यटन के लिए आने का न्यौता दिया।

3 महीने में 24 लाख टूरिस्ट जम्मू गए
पर्यटन विभाग जम्मू के निदेशक विवेकानंद राय ने बताया कि चूंकि उनके यहां 95 फीसदी लोगों का दोनों वैक्सीनेसन हो गया है। लिहाजा अब टूरिस्टों ने जम्मू आना शुरू कर दिया है। उन्होंने बताया कि इस साल जून में 3 लाख, जुलाई में 10 लाख और अगस्त महीने में 11 लाख टूरिस्ट जम्मू आए। राय ने बताया कि इतिहास में पहली बार 15 अगस्त के दिन जम्मू-कश्मीर में टेलिफोन व मोबाइल सेवा बंद नहीं थी। चूंकि जम्मू अब पूरी तरह से टूरिस्टों के लिए सुरक्षित पर्यटन स्थल है। लिहाजा उन्हें फिर से छुट्टियों में यहां घूमने आना चाहिए।

बिना टेस्टिंग के आने वालों का हो रहा रैपिड एंटीजन टेस्ट
पर्यटन विभाग कश्मीर के निदेशक डॉ. जीएन इट्टू ने बताया कि कश्मीर में जो भी टूरिस्ट आ रहा है। उसे सभी प्रकार की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। यदि कोई टूरिस्ट बिना कोरोना टेस्ट के भी आ जा रहा है, तो सरकार की ओर से वहां रैपिड एंटीजन टेस्ट की व्यवस्था की गई है। जिससे टूरिस्ट को कोई परेशानी न हो।

तीन महीने में कश्मीर आये 1.5 लाख टूरिस्ट
टूरिस्ट विभाग के आंकड़ों के अनुसार इस साल जून में 15,254, जुलाई में 48,858 और अगस्त में 49,719 टूरिस्ट कश्मीर आए। गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर घुमने जाने वाले डोमेस्टिक टूरिस्ट में महाराष्ट्र और बंगाल के लोग सबसे अधिक होते हैं। यही वजह है कि कोरोना महामारी कंट्रोल में आते ही जम्मू व कश्मीर टूरिज्म विभाग ने इन राज्यों के घरेलू पर्यटकों को आकर्षित करना शुरू किया है।

खबरें और भी हैं...