पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57491.51-2.62 %
  • NIFTY17149.1-2.66 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486500.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)64467-0.29 %
  • Business News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Junior Doctors Put Up A Black Badge In Protest Against The Delay In NEET PG Counseling, Said If The Date Is Not Released Soon, The Emergency Service Will Stop

विरोध की रणनीति:नीट-पीजी काउंसिलिंग में देरी के विरोध में जूनियर डॉक्टर्स ने लगाया काला बिल्ला, बोले-जल्द तिथि जारी नहीं हुई तो इमरजेंसी सेवा ठप करेंगे

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • फोरेडा की ओर से तैयारी के अनुसार ही रिम्स के चिकित्सक विरोध प्रदर्शन में बढ़ेंगे
  • आरोप... नए बैच के नहीं आने से डेढ़ साल से फस्ट ईयर में ही हैं योग्य चिकित्सक

नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट पोस्ट ग्रेजुएशन (नीट-पीजी) काउंसिलिंग में हो रही देरी को लेकर सोमवार को पीजी फर्स्ट ईयर, इंटर्न मेडिकल छात्रों के साथ जेडीए के सदस्यों ने भी काला बिल्ला लगाकर काम किया। विरोध की रणनीति फोरेडा द्वारा तैयार की गई। उनके द्वारा विरोध प्रदर्शन के अह्वान पर रिम्स के चिकित्सक भी आगे आए। यदि सरकार इस विषय पर कोई ठोस कदम नहीं उठाती है तो आगे कठोर कदम उठाने के लिए बाध्य होंगे।

वहीं, पीजी छात्र डॉ. अमित ने कहा कि देशभर के 40 हजार पीजी के डॉक्टर सेवा देने के बजाय अपने घरों पर हैं। इससे मरीजों का ही नुकसान हो रहा है। रिम्स जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. विकास कुमार ने कहा कि नए बैच जल्द आएंगे तो इलाज में सुविधा होगी। सेकेंड ईयर में प्रमोट होने वाले डॉक्टर्स का हौसला बढ़ेगा। वैसे भी कोविड का समय है, डॉक्टर्स की काफी जरूरत है।

जेडीए अध्यक्ष बोले- दूसरे राज्यों में सेवा ठप, पर हम जनहित देख रहे हैं
रिम्स जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. विकास कुमार ने कहा कि नीट पीजी की काउंसिलिंग काफी डिले चल रही है। इसमें 6 माह देर हो चुका है। फर्स्ट ईयर पीजी के छात्र डेढ़ साल से फर्स्ट ईयर में ही हैं। ऐसे में इनका भविष्य अंधेरे में है। उन्होंने कहा कि दूसरे राज्यों व कई मेडिकल कॉलेजाें में इमरजेंसी सेवा को भी ठप कर दिया गया है। लेकिन, रिम्स के मेडिकल छात्र जनहित को ध्यान में रखते हुए काला बिल्ला लगाकर काम कर रहे हैं।

सरकार इस विषय को हल्के में ना ले : पीजी फर्स्ट ईयर की छात्रा डॉ. नीतू ने कहा कि हम सभी सेकंड ईयर में प्रमोट नहीं हुए हैं। फर्स्ट ईयर का ही काम हमसे करवाया जा रहा है। इससे हम सभी पीजी के छात्र तनाव में हैं। उन्होंने कहा कि हमारी मांग जनहित के लिए भी महत्वपूर्ण है। डॉ. नीतू ने कहा कि यदि सरकार इस विषय को हल्के में लेती है तो आने वाले दिनों में कड़ा रुख अख्तियार करेंगे।

खबरें और भी हैं...