पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राष्ट्रपति चुनाव:जेएमएम के मन में , शाह को बताएंगे हेमंत; केंद्र से मनमुटाव दूर करना चाहता है सत्ताधारी दल

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जेएमएम की बैठक को संबोधित करते सीएम। - Money Bhaskar
जेएमएम की बैठक को संबोधित करते सीएम।

राष्ट्रपति चुनाव को लेकर जेएमएम ने पत्ते नहीं खोले। पार्टी के सांसदों-विधायकों की शनिवार को हुई बैठक में अंतिम फैसला नहीं हो सका। हालांकि पार्टी के शीर्ष स्तर पर बातचीत से साफ हो गया है कि जेएमएम नेताओं का मन एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू के साथ है। लेकिन इससे पहले मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलेंगे।

एनडीए प्रत्याशी के पक्ष में जाने से पहले शाह को अपने मन का मर्म बताएंगे। दरअसल सत्ताधारी दल झामुमो केंद्र सरकार से राजनीतिक मतभेदों को दूर करने की कोशिश में है। सूत्रों के मुताबिक पिछले कई महीने से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन अमित शाह से मिलने की कोशिश कर रहे थे। अब राष्ट्रपति चुनाव के कारण उन्हें यह मौका मिल गया है। इसलिए उससे मुलाकात के बाद ही अंतिम समय पर झामुमो अपने पत्ते खोलेगा। उधर, मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि एक-दो राउंड की और बैठक के बाद झामुमो फैसला लेगा। वहीं पार्टी के मुख्य सचेतक नलिन सोरेन ने कहा कि हमारे कुछ ग्रीवांसेज हैं।

उस पर हेमंत सोरेन गृह मंत्री से बात करेंगे। तभी कोई फैसला होगा। पार्टी महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने राष्ट्रपति चुनाव पर हुई बैठक को महाराष्ट्र और झारखंड से भी जोड़ा। उन्होंने कहा कि बैठक में महाराष्ट्र के राजनीतिक घटनाक्रम और झारखंड की राजनीतिक स्थिति पर भी चर्चा हुई। यह साफ संदेश है कि झारखंड में जिस तरह राज्य सरकार को अस्थिर करने की कोशिश हो रही है, यह भी झामुमो के लिए चिंता का विषय है। झामुमो इस चिंता को भी विचार-विमर्श से दूर करना चाहता है।

जानिए- कैसे तय होती है वोट वैल्यू और झामुमाे के पास कितने

झारखंड के 1 विधायक की वाेट वैल्यू क्या?
1971 की जनसंख्या के आधार पर विधायकों की वोट वैल्यू तय होती है। 1971 में झारखंड की जनसंख्या 1,42,27,133 थी। कुल विधायक संख्या से जनसंख्या में भाग देने पर एक विधायक की वोट वैल्यू 176 हाेती है। यही झारखंड के 1 विधायक की वोट वैल्यू है।

1 सांसद की वाेट वैल्यू कितनी है?
देश के कुल विधायकों की वोट वैल्यू 5,43,231 है। लोकसभा के 543 और राज्यसभा के 233 सांसदों यानी कुल 776 सांसदों से इसे विभाजित करने पर एक सांसद की वोट वैल्यू 700 हाेती है।

ताे राज्य के कुल सांसदाें-विधायकाें की वाेट वैल्यू कितनी है?

राज्य के 81 विधायकों की वोट वैल्यू 14,256 है। लोकसभा के 14 और राज्यसभा के 6 यानी 20 सांसदों की वोट वैल्यू 14,000 है। जेएमएम के सांसद-विधायकाें की वोट वैल्यू क्या? जेएमएम के लोकसभा और राज्यसभा में कुल दो सांसद हैं। इनकी वोट वैल्यू 1400 हुई। जेएमएम के 30 विधायक हैं ताे इनकी वाेट वैल्यू 5280 हुई। यानी जेएमएम की कुल वोट वैल्यू 6680 है।

भाजपा-आजसू की कुल वाेट वैल्यू कितनी है? भाजपा व आजसू के 12 लोकसभा सदस्य हैं। तीन राज्यसभा सदस्य हैं। इन 15 सांसदों की कुल वोट वैल्यू 10,500 है। इसी तरह भाजपा के 26 और आजसू के 2 विधायक हैं। इन 28 विधायकों की वोट वैल्यू 4928 है। यानी भाजपा-आजसू की कुल वोट वैल्यू 15428 है। और कांग्रेस की वाेट वैल्यू? कांग्रेस के एक सांसद और 17 विधायक हैं। यानी कुल वोट वैल्यू 3692 है।

जीत के लिए चाहिए 5.40 लाख वाेट, एनडीए के पास 5.63 लाख

  • राष्ट्रपति चुनाव में कुल 767 सांसद और 4033 विधायक वाेट देंगे। इनकी कुल वाेट वैल्यू 10.8 लाख है।
  • जीत के चाहिए 540065 से ज्यादा वाेट।
  • बीजद के आने से एनडीए की वाेट वैल्यू 563825 हाे गई है।
  • विपक्ष में कुल 24 पार्टियां हैं। इनके 283 सांसदाें और 1981 विधायकाें की कुल वाेट वैल्यू 480748 है।

जेएमएम के वोट से द्रौपदी की जीत- हार पर असर नहीं

जेएमएम के विधायकों-सांसदों की वोट वैल्यू 6680 है। इससे द्रौपदी की जीत-हार पर असर नहीं पड़ेगा। पर वे आदिवासी महिला हैं। राज्य के आदिवासियों का इनसे लगाव है। ऐसे में खिलाफ जाने पर झामुमो पर आदिवासी विरोधी होने का ठप्पा लग सकता है।

रास चुनाव के बाद दूसरा मौका, जब गठबंधन धर्म से पीछे हट रहा झामुमो
राज्यसभा चुनाव में जेएमएम ने महुआ माजी को अपना प्रत्याशी बनाया था। कांग्रेस का कहना था कि जेएमएम ने एकतरफा फैसला लेकर गठबंधन धर्म का पालन नहीं किया। अब राष्ट्रपति चुनाव में कांग्रेस विपक्ष में है। लेकिन जेएमएम एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू को वोट देने की तैयारी में है। यानी फिर गठबंधन धर्म से पीछे हट रहा है।

खबरें और भी हैं...