पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57491.51-2.62 %
  • NIFTY17149.1-2.66 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486500.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)64467-0.29 %
  • Business News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Extension Was Available Even After Lack Of Qualification, No Qualification, Stopped Service Extension Of Registrar, Controller Of Examinations And AEC

झारखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी:योग्यता नहीं रहने के बाद भी मिल रहा था एक्सटेंशन, अर्हता नहीं, रजिस्ट्रार, परीक्षा नियंत्रक और एईसी का रोक दिया सेवा विस्तार

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

झारखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी (जेयूटी) की स्थापना पांच साल पहले तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से किया गया था। शैक्षणिक कार्य वर्ष 2018 से शुरू हुआ था। यूनिवर्सिटी में काम संचालित करने के लिए तीन अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गई। इसमें रजिस्ट्रार, परीक्षा नियंत्रक और सहायक परीक्षा नियंत्रक का पद शामिल है। लेकिन, इन तीनों अधिकारियों के पास यूजीसी मानक के अनुसार निर्धारित अर्हता नहीं थी।

एनएसयूआई, टेक्निकल छात्र संघ समेत अन्य संगठनों ने प्रतिनियुक्ति का विरोध किया था। लेकिन, इन अधिकारियों को बार-बार एक्सटेंशन मिलता रहा। लेकिन, इस बार एक्सटेंशन नहीं मिला।

ये हैं विवि के तीनों अधिकारी

  • 1. रजिस्ट्रार : डॉ. कुणाल कुमार बीआईटी सिंदरी में असिस्टेंट प्रोफेसर हैं। इनके पास रजिस्ट्रार के पद पर प्रतिनियुक्ति के अनुसार अर्हता नहीं थी।
  • 2. परीक्षा नियंत्रक : राजेश प्रसाद पॉलिटेक्निक कॉलेज लातेहार में सिविल में एक मात्र व्याख्याता हैं। तीन साल से जेयूटी में कार्य देख रहे थे।
  • 3. सहायक परीक्षा नियंत्रक : राजदेव कुमार धनबाद स्थित निरसा राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज में शिक्षक हैं। इनकी प्रतिनियुक्ति सहायक परीक्षा नियंत्रक के पद पर हुई थी, पर अर्हता नहीं थी।
खबरें और भी हैं...