पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस को मिले थे 28 हथियार:नक्सलियों को बब्बर खालसा कर रहा हथियार सप्लाई, केस को एनआईए ने किया टेकओवर

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की कार्रवाई में मिले 28 हथियारों के केस को एनआईए ने टेक ओवर कर लिया है। - Money Bhaskar
पुलिस की कार्रवाई में मिले 28 हथियारों के केस को एनआईए ने टेक ओवर कर लिया है।

झारखंड में नक्सलियों के तार पहली बार बब्बर खालसा इंटरनेशनल (बीकेआई) से जुड़े हैं। इस बात की जानकारी जैसे ही एनआईए को मिली, उसने लोहरदगा-लातेहार सीमा पर बुलबुल जंगल में पुलिस की कार्रवाई में मिले 28 हथियारों के केस को टेक ओवर कर लिया है। सूत्रों का कहना है कि बब्बर खालसा इंटरनेशनल झारखंड में नक्सलियों को हथियार की सप्लाई करता है।

इस संबिंध में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने रांची शाखा में केस दर्ज किया है। उल्लेखनीय है कि झारखंड पुलिस ने सीआरपीएफ के साथ ऑपरेशन डबल बुल अभियान फरवरी माह में चलाया था। इस दौरान एक उग्रवादी दिनेश नगेशिया मुठभेड़ में मारा गया था। जबकि 10 लाख रुपए के इनामी एक जोनल कमांडर बालक गंझू, तीन सब जोनल कमांडर, एक एरिया कमांडर व छह माओवादियों के सक्रिय सदस्य गिरफ्तार किए गए थे। गिरफ्तार नक्सलियों की निशानदेही पर 28 हथियारों की बरामदगी हुई थी।

26 फरवरी 2022 को झारखंड पुलिस के आईजी अभियान अमोल वी होमकर ने बताया था कि पूरे अभियान के दौरान कुल 28 हथियारों व हजारों कारतूस की बरामदगी झारखंड अलग होने के बाद अब तक की सबसे बड़ी बरामदगी थी। इससे पहले वर्ष 2018 में गिरिडीह जिला अंतर्गत पीरटांड़ थाना क्षेत्र में भाकपा माओवादियों के पास से कुल 11 हथियारों की बरामदगी हुई थी, जिनमें एक एके-47, पांच एसएलआर, तीन .303 रायफल व दो इंसास राइफल शामिल थे।

पहले नक्सली पकड़े गए, फिर हुई हथियारों की बरामदगी
झारखंड में पहली बार लंबे समय तक चले आपरेशन डबल बुल के दौरान 25 फरवरी 2022 को लातेहार पुलिस ने पलामू जिले के तरहसी थाना क्षेत्र के सिलदलिया से सब जोनल कमांडर पांच लाख के इनामी सुदर्शन भुइयां उर्फ नंद किशोर भारती को गिरफ्तार किया था। उसी दिन लातेहार पुलिस ने बालूमाथ थाना क्षेत्र के देवबार से सब जोनल कमांडर बालक गंझू को भी गिरफ्तार किया था। झारखंड पुलिस ने गिरफ्तार नक्सलियों की निशानदेही पर गुमला और लोहरदगा के अलग-अलग क्षेत्रों में 28 हथियार व कारतूस इत्यादि मिले थे।

खबरें और भी हैं...