पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

काला दिवस:आपातकाल के दौरान 13 महीने जेल में रहे उमेश कांस्यकार को किया गया सम्मानित

लोहरदगा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारत में आपातकाल 1975 से 1977 तक 21 महीने तक तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा देश भर में आपातकाल की स्थिति घोषित किए जाने को लेकर शनिवार को भाजपाइयों ने इसे काला दिवस के रूप में मनाया। जिला समिति द्वारा अटल भवन में जिलाध्यक्ष मनीर उरांव के नेतृत्व में इमरजेंसी को काला दिवस के रूप में मनाया गया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से लोकसभा सांसद सुदर्शन भगत उपस्थित रहे। जिसकी शुरुआत महापुरुषों के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलन कर की गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सांसद द्वारा आपातकाल के दौरान 13 महीने जेल में रहे उमेश कांस्यकार को अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया।

मौके पर सांसद सुदर्शन भगत ने कहा कि कांग्रेस शुरू से ही परिवारवाद को बढ़ावा देने के लिए जनविरोधी व लोकतांत्रिक व्यवस्था की हत्या करने प्रयास किया, उसका जीता जागता उदाहरण है। 25 जून 1975 को देश में लगाई इमरजेंसी के 18 महीने देश के लोग भूल नहीं सकते। कांग्रेस सत्ता का सदैव दुरुपयोग किया और देश के सभी वर्ग संप्रदाय के लोगों को प्रताड़ित करने का कार्य किया है।

आज हमें ऐसे तानाशाह सरकार को दुबारा सत्ता पर ना लाने का संकल्प लेना चाहिए। यह तिथि इतिहास में सदैव काले दिन के लिए जाना जाएगा। मनीर उरांव ने कहा कि आपातकाल देश शर्मसार किया है। जिसमें अन्य जगहों के साथ साथ लोहरदगा के लोगों ने भी इसका परेशानियों का हिस्सा बने। जिसे स्मरण कर भयभीत होते हैं। कार्यक्रम को ओमप्रकाश सिंह, श्रीचंद प्रजापति पूर्व माटी कला बोर्ड अध्यक्ष, ब्रजबिहारी प्रसाद, मदनमोहन पाठक, उमेश कांस्यकार, राजकिशोर महतो ने भी संबोधित किया।

मंच संचालन राजकुमार वर्मा व धन्यवाद ज्ञापन अमरेश भारती ने किया। मौके पर पूर्व विधायक रमेश उरांव, राकेश प्रसाद, परमेश्वर साहू, हर्षनाथ महतो, अजय कुमार पंकज, राजकुमार वर्मा, बालकृष्णा सिंह, सरोज प्रजापति, अनिल उरांव, पशुपति नाथ पारस, अमरेश भारती, विनोद राय, भूषण साहू, अशोक चंद्र घोष, ओम गुप्ता, राजेश महतो, ओम कास्यकार, सहित अन्य शामिल थे।

खबरें और भी हैं...