पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महंगाई की मार:कैरोसिन का दाम पेट्रोल व डीजल के बराबर, लाभुक नहीं ले रहे कैरोसिन

लोहरदगा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिलेभर में लोगों को लाल कार्ड, पिला कार्ड व हरा कार्ड के माध्यम से जनवितरण प्रणाली दुकान से राशन का वितरण किया जाता है। इसमें गेहूं, चावल व किरोसिन तेल तय कार्ड अनुसार वितरित किया जाता है। परंतु बीते कुछ समय से किरोसिन तेल का दाम पेट्रोल व डीजल के बराबर हो जाने से काफी कम लाभुकों द्वारा ही इसका उठाव किया जाता है।

वहीं कुछ डीलरों से किसी भी लाभुक द्वारा किरोसिन तेल का उठाव नहीं किया जाता है। जिस कारण कुछ डीलरों द्वारा तेल गोदाम से नहीं उठाया जाता है। अब किरोसिन तेल का दाम पेट्रोल व डीजल के बराबर होने से लाभुकों को इसके उठाव के लिए सोचना पड़ रहा है। बताया जाता है किरोसिन तेल जनवितरण प्रणाली दुकान से उठाव करने के लिए 100 से 107 रुपए का पेय लाभुक को करना पड़ता है।

इस कारण लाभुक किरोसिन तेल के उठाव में दिलचस्पी नहीं दिखा रहे। नतीजा गोदाम में किरोसिन तेल प्रत्येक आवंटन में कम होता जा रहा है। इस पर जनवितरण प्रणाली दुकानदार शंभु, फैज, मनोज आदि ने बताया कि किरोसिन तेल का दाम अधिक होने के कारण कई लाभुक इसे लेना नहीं चाहते है। इसलिए तेल लेने वाले लाभुकों को चिह्नित कर ही तय लीटर के अनुसान किरोसिन का उठाव किया जाता है। मामले पर जिला आपूर्ति पदाधिकारी प्रवीण केरकेट्‌टा से पूछे जाने पर बताया गया कि किरोसिन तेल का वितरण किलो लीटर के अनुसार गोदाम द्वारा डीलरों को किया जाता है। यह त्रैमासिक आवंटन है।

खबरें और भी हैं...