पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मध्याह्न भोजन के राशि के गबन का आरोप:सचिव पर कोरोना काल के मध्याह्न भोजन राशि गबन करने का आरोप

प्रतापपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय ननई कला के छात्र एवं छात्राओं ने प्रधानाध्यापक सह सहायक अध्यापक विजय साव पर कोरोना काल का मिलने वाले मध्याह्न भोजन के राशि के गबन का आरोप लगाते हुए उपायुक्त चतरा,प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रतापपुर,प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी तथा थाना प्रभारी को आवेदन दिया है।शनिवार को इस विद्यालय के छात्र एवं छात्राएं जुलूस निकाल कर तथा नारा लगाते हुए प्रखंड कार्यालय एवं थाना पहुंचे तथा प्रखंड कार्यालय का घेराव किया। बाद में प्रखंड विकास पदाधिकारी को दिए आवेदन में इस विद्यालय के विद्यार्थियों ने कहा है कि विद्यालय के सचिव द्वारा शनिवार को सभी विद्यार्थियों को अपने अपने अभिभावकों के साथ विद्यालय आने के लिए कहा गया।

बताया गया कि शनिवार को मध्यान भोजन के राशि का वितरण किया जायेगा।जब सभी विद्यार्थी अपने अपने अभिभावकों के साथ विद्यालय आए तो सचिव द्वारा बताया गया कि कोरोना काल के मध्याह्न भोजन के राशि वितरण करने के मद में 307000 (तीन लाख सात हजार) आया है। सचिव ने बताया कि इस पैसा मे से कुछ पैसा विद्यालय के मरम्मति कार्य में लगा दिया गया है।

इसलिए विद्यार्थियों को मिलने वाले पैसा में कटौती कर दिया गया है ।पैसा आधा पैसा मिलेगा। इस पर अभिभावकों द्वारा तर्क करने पर सचिव विजय साव, अपना भाई उदय साव, पुत्र राजन साव, चंदन कुमार तथा ज्योति कुमार के अभिभावकों के साथ गाली गलौज तथा मारपीट किया।विद्यार्थियों ने सचिव,सचिव के भाई तथा उनके पुत्रों एवं प्रबंधन समिति के अध्यक्ष प्रमोद साव पर कानूनी कार्रवाई की की मांग किया है। आवेदन देने वालों में अर्जुन कुमार,मोना कुमार,मनी कुमार,चंदन कुमार,सकुन्ती कुमारी,रिया कुमारी सहित अन्य छात्र छात्राओं का नाम शामिल है। प्रखंड विकास पदाधिकारी मुरली यादव ने बताया कि लगाया आरोप का जांच करेंगे।

खबरें और भी हैं...