पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

छापेमारी:चित्रगुप्त नगर में भारी मात्रा में ढिबरा का स्टॉक मिला, जंगलों में जारी है अवैध खनन, इस कारण नहीं रुक रहा कारोबार

कोडरमा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोदाम का जांच करते पदाधिकारी और स्टॉक कर रखा गया ढिबरा। - Money Bhaskar
गोदाम का जांच करते पदाधिकारी और स्टॉक कर रखा गया ढिबरा।

झुमरीतिलैया थाना अंतर्गत चित्रगुप्त नगर स्थित टुनटुन तरवे के ढिबरा गोदाम पर शनिवार काे छापेमारी की गई। छापेमारी के दौरान व्यवसायी के बिना वैध कागजात के ढिबरा का व्यवसाय करते पाया गया। जांच के दौरान गोदाम में काफी मात्रा में ढिबरा को स्टॉक कर रखा मिला। हालांकि व्यवसायी ने कारोबार बंद रखने की बात कही।

व्यवसायी ने भंडारण लाइसेंस के अलावा ढिबरा के कारोबार को लेकर अन्य कागजात प्रस्तुत नहीं किए गए। गोदाम में 50 केजी के बोरी में भर कर रखे गए लगभग 400 बोरा फ्लैक माइका एवं डस्ट माइका सहित 35 टन ढिबरा पाया गया। इस संबंध में जिला खनन पदाधिकारी ने बताया कि व्यवसायी को ढिबरा के कारोबार को लेकर कागजात प्रस्तुत करने को कहा गया है।

ढिबरा के अवैध कारोबार को लेकर मिली गुप्त सूचना के आधार पर जिला खनन पदाधिकारी दरोगा राय एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अशोक कुमार ने कार्रवाई की।कार्रवाई में नहीं बरती जा रही है एकरूपता : जिले में ढिबरा के अवैध कारोबार व जंगलों से इसके अवैध खनन पर रोक नहीं लग पाने का सबसे बड़ा कारण कार्रवाई में एकरूपता नहीं बरता जाना रहा है। बड़े व्यवसायियों के इसके अवैध कारोबार में जुड़े रहने के कारण ही खनन माफिया जंगलों से ढिबरा के अवैध खनन से बाज नहीं आ रहे हैं।

वहीं लगभग 70 की संख्या में जिले में संचालित ढिबरा गोदाम में जंगलों से लाकर जमा किए गए सैकड़ों ट्रक ढिबरा स्टॉक कर रखा गया है। इसके बावजूद अब तक सभी गोदामों की समान रूप से जांच कर कार्रवाई किए जाने के बजाय गिने चुने माइका गोदाम संचालकों के विरुद्ध ही कार्रवाई की जाती रही है।

खबरें और भी हैं...