पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

साइबर फ्रॉड की आशंका:जामताड़ा में डेढ़ माह से 40 हजार उपभोक्ताओं की पेटीएम एप ठप, साइबर पुलिस ने कहा-मामले की जानकारी नहीं

जामताड़ा2 महीने पहलेलेखक: शशि कुमार
  • कॉपी लिंक
एप से न तो पेमेंट हो रहा और न ही रुपए ट्रांसफर - Money Bhaskar
एप से न तो पेमेंट हो रहा और न ही रुपए ट्रांसफर

जामताड़ा में डेढ़ माह से 40 हजार उपभोक्ताओं की पेटीएम एप बंद है। न काेई पेमेंट कर पा रहा है और न ही एप के माध्यम से किसी के अकाउंट में रुपए आ रहे हैं। पुलिस के साइबर सेल काे अबतक मामले की जानकारी तक नहीं है।

कंपनी के कस्टमर केयर से इस संबंध में पूछे जाने पर कहा जा रहा है कि साइबर फ्रॉड के कारण जामताड़ा में सेवा बंद की गई है। दोबारा केवाईसी अपलोड करें। हालांकि, दाेबारा केवाईसी अपलोड करने पर भी सेवा शुरू नहीं हाे पाई है। ग्राहकों को दिसंबर के पहले सप्ताह से इस समस्या से जूझना पड़ रहा है।

इधर, आशंका व्यक्त की जा रही है कि सेवा ठप हाेने के पीछे साइबर ठगाें का कारनामा हाे सकता है। जामताड़ा का पेटीएम कोड 815351 और करमाटांड़ का 815352 है। उपभोक्ताओं ने बताया कि पेटीएम से पैसा नहीं निकाल पा रहे हैं।

एड मनी ऑप्शन भी बंद है। एक माह से अकाउंट ब्लॉक है। पेटीएम लॉग-इन नहीं हो रहा है। इस से भुगतान में परेशानी हो रही है। कई लाेगाें ने जामताड़ा के ठगाें के डर से डिजिटल लेन-देन बंद कर दिया है।

कंपनी ने ग्राहकों से कहा-केवाईसी अपडेट कराएं, अपडेट कराने के बाद भी काम नहीं कर रहा एप

पेटीएम एप बंद होने के मामले काे साइबर क्राइम से जाेड़कर देखा जा रहा है। नौकरीपेशा, व्यवसायी वर्ग, छोटे दुकानदार से लेकर छात्र और गृहिणी सभी का पेटीएम ब्लॉक होना समझ से परे है। बहुत ग्राहकों के वॉलेट में पैसे पड़े रहने के बावजूद कंपनी की ओर से अभी तक कोई कदम नहीं उठाया गया है।

पेटीएम के हेल्प सपोर्ट में ऑनलाइन केवाईसी का ऑप्शन पूरा करने के बाद भी ग्राहक का अकाउंट एक्टिवेट नहीं हो रहा है। जामताड़ा में 40 हजार पेटीएम उपभोक्ता हैं। कंपनी की ओर से अबतक कुछ नहीं किया गया है।

मर्चेंट अकाउंट के वॉलेट में हजारों रुपए फंसे: ग्राहक

करमाटांड़ के राकेश मंडल ने बताया कि बंद पेटीएम सेवा को चालू करवाया था। बताया गया कि सेवा चालू कर दी गई है, लेकिन पैसा नहीं निकल पा रहे हैं। एड मनी ऑप्शन भी बंद है।

जामताड़ा के काराेबारी प्रीतपाल सिंह और अजय कुमार ने बताया कि सेवा बंद होने के बाद जब पेटीएम कस्टमर केयर से संपर्क किया तो बताया गया कि फ्रॉड के कारण जामताड़ा में सेवा बंद कर दी गई है। जब हमने कहा कि हमारा मर्चेंट अकाउंट है।

पेटीएम वॉलेट में हमारे हजारों रुपए ब्लॉक हो गए, उसका क्या करेंगे। तब कंपनी ने हमें दोबारा से केवाईसी अपलोड करने को कहा गया। ऐसा करने पर भी दिक्कतें आ रही हैं।

पेटीएम से साइबर फ्रॉड के कई मामले आए हैं: पुलिस

पेटीएम ने जामताड़ा में सेवा क्यों बंद की है, इसकी ऑफिशियल जानकारी नहीं है। पेटीएम से कई बार साइबर फ्रॉड हो चुका है। बंद होने का यह कारण हो सकता है। पेटीएम से फ्रॉड करने वाले कई साइबर अपराधियों को हाल में गिरफ्तार भी किया गया है।

-मजरुल होदा, साइबर डीएसपी, जामताड़ा