पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धरना प्रदर्शन:सड़क किनारे बाउंड्री वॉल दिए जाने के विरोध में रेल मंत्री को जामताड़ा के प्रतिनिधिमंडल ने सौंपा ज्ञापन

जामताड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से राज्यसभा सांसद आदित्य प्रसाद के नेतृत्व में भाजपा नेता सह नगर पंचायत पूर्व अध्यक्ष वीरेंद्र मंडल मिल ज्ञापन सौंपा गया। बताया गया कि जामताड़ा प्रखंड के बंगाल सीमा कानगोई फाटक से लेकर करमाटांड़ प्रखंड विद्यासागर स्टेशन तक रेलवे लाइन किनारे दोनों तरफ बी क्लास जमीन पर बाउंड्री देकर घेरा जा रहा है। डीआरएम आसनसोल के द्वारा रैयत धारियों के जमीन में जबरन बाउंड्री वाल देकर पिलर गाड़ कर आवागमन अवरुद्ध किया गया है।

रेलवे द्वारा जबरन अवैध निर्माण कार्य के साथ-साथ जबरन बुलडोजर चलाकर घर को ध्वस्त कर देना एवं घर खाली करने संबंधी फरमान जारी करने के कार्य पर तत्काल रोक लगाने की मांग की गई। मंडल ने बताया कि रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव के द्वारा डीआरएम को इस दिशा में आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कार्य पर रोक लगाने का आदेश दिया है। मेमोरेंडम देने के लिए विधायक बोकारो बिरींची नारायण, नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष वीरेंद्र मंडल,राज्यसभा सांसद के निजी सचिव उमेश साहू, समाजसेवी देवाशीष सरखेल के अलावे अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

ज्ञात हो कि बीते 12 सितंबर को जन संघर्ष मंच जामताड़ा के तत्वाधान में जामताड़ा रेलवे स्टेशन पर महा धरना का आयोजन किया गया था। बी क्लास रैयती जमीन पर वर्षों से दुकान एवं घर बनाकर रह रहे सैकड़ों की संख्या में महिलाएं, पुरुष, नौजवान साथी गण, एवं पीड़ित रैयतधारी नगरवासी जामताड़ा रेलवे स्टेशन अपनी मांगों को लेकर धरना दिया था।

मौके पर वीरेंद्र मंडल ने कहा बी क्लास रैयती जमीन पर रेलवे द्वारा जबरन अधिग्रहण किया जा रहा है, दुकान एवं का घर खाली करने का नोटिस दिया जा रहा है, जो असल में बी क्लास रैयती जमीन रेलवे की नहीं है। बिहार एक्विजिशन मैनुअल, बिहार लैंड एक्विजिशन 1894, बिहार एंड उड़ीसा लैंड एक्विजिशन 1928, एसपीटी एक्ट एवं गैंजर रिपोर्ट मैं भी स्पष्ट रूप से उल्लेखित है कि बी क्लास जमीन रेलवे की नहीं है, इन सभी तथ्यों को संलग्न कर रेलवे को आवेदन दिया गया है।

खबरें और भी हैं...