पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आईएमए और झारखंड स्टेट हेल्थ एसोसिएशन की बैठक हुई आयोजित:डाॅक्टर से मारपीट करनेवाले काे 24 घंटे में गिरफ्तार करें व चिकित्सकाें को सुरक्षा दें

जामताड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आईएमए की बैठक में शामिल चिकित्सक। - Money Bhaskar
आईएमए की बैठक में शामिल चिकित्सक।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नारायणपुर के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ एसके गुप्ता के साथ मारपीट की घटना को लेकर आक्रोशित चिकित्सकों ने बैठक की। आईएमए और झारखंड स्टेट हेल्थ एसोसिएशन (झांसा) की बैठक में चिकित्सकों ने 24 घंटे के भीतर अपराधियों को गिरफ्तार करने की मांग की है।

सिविल सर्जन कार्यालय में आयोजित बैठक की अध्यक्षता सिविल सर्जन डॉ एसके मिश्रा ने की। डॉ एसके मिश्रा झांसा के जिलाध्यक्ष है। झांसा की बैठक में डॉ एसके गुप्ता पर हुए जानलेवा हमले की निंदा की गई। चिकित्सकों ने कहा कि जामताड़ा में चिकित्सक मौजूदा संसाधन के बावजूद भी बेहतर सेवा देने का काम करते हैं, बावजूद भी लोगों के आक्रोश का शिकार हो रहे हैं।

ऐसे में प्रशासन चिकित्सकों की सुरक्षा का इंतजाम करे। बताया गया कि नारायणपुर स्वास्थ्य केंद्र में मात्र 2 चिकित्सक हैं जो 24 घंटे लोगों की सेवा देते हैं। ऐसे में अगर उन पर जानलेवा हमला हो जाए तो लोगों की सेवा कैसे कर सकेंगे। आए दिन चिकित्सकों पर देशभर में हो रही घटना की निंदा की गई। बैठक में मुख्य रूप से डॉ मंजुला मुर्मू, डॉ अशोक कुमार, डॉ उपदेश, डॉ मधुबाला सिन्हा, डॉ डीसी मुंशी, डॉ एसके घोष, डॉ दुर्गेश झा सहित कई चिकित्सक मौजूद थे। घटना को लेकर आईएमए के सदस्यों ने उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक को घटना के संबंध में ज्ञापन सौंपा है एवं कार्रवाई की मांग की है।

वज्रपात से दाे बच्चाें की माैत पर उग्र हाे गए थे लाेग
ज्ञात हो कि बुधवार काे नारायणपुर क्षेत्र में वज्रपात से दो बच्चों की मौत हो गई थी। वज्रपात में घायल बच्चों को इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्र नारायणपुर लाया गया था, जहां चिकित्सकों ने उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए रेफर कर दिया था मगर कुछ देर बाद बच्चों की मौत हो गई, जिससे गुस्साए लोगों ने अस्पताल में हंगामा किया और चिकित्सक डॉ एस के गुप्ता पर जानलेवा हमला घायल कर दिया।

चिकित्सा प्रभारी के साथ मारपीट में प्राथमिकी दर्ज
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रनारायणपुर के चिकित्सा प्रभारीडॉ एस के गुप्ता के आवेदन पर नारायणपुर थाना कांड संख्या 104/22 में चार से पांच अज्ञात लोगों के खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 341, 323, 325, 353, 307, 379, 427, 504 एवं 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया ।यह मामला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नारायणपुर के चिकित्सा प्रभारी ने दर्ज कराया।

मारपीट के बाद विरोध में स्वास्थ्य केंद्र में बंद रही ओपीडी सेवा
मुरलीपहाड़ी | चिकित्सा प्रभारी के साथ मारपीट की घटना के बाद गुरुवार को नारायणपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सक के नहीं पहुंचने से ओपीडी सेवा पूरी तरह से बंद रखा गया। सुबह 11 बजे तक ओपीडी कार्यालय में ताला लगा रहा। बाहर खड़े मरीजों को आज किसी तरह की स्वास्थ्य सुविधा नहीं मिली। जरूरतंद मरीज बाहर घूमते नजर आये।

इस दौरान नारायणपुर थाना क्षेत्र के एक बुखार पीड़ित बच्ची किरण कुमारी पिता दशरथ पंडित ग्राम घांटी शिमला बुखार से पीड़ित थी, लेकिन ओपीडी बंद रहने के कारण बच्ची का ईलाज नारायणपुर अस्पताल में नहीं हो पाया। इस कारण बच्ची का ईलाज निजी क्लिनिक में करवाना पड़ा। इधर, अस्पताल में सभी कुर्सियां खाली पड़ी रहीं। न चिकित्सक थे और ना स्वास्थ्य कर्मी।

चिकित्सक एवं स्वास्थ्य कर्मियों ने की बैठक
नारायणपुर | सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नारायणपुर में चिकित्सा प्रभारी के साथ मारपीट की घटना को लेकर यहां के चिकित्सक एवं अन्य स्वास्थ्य कर्मियों ने बैठक कर विभाग से सुरक्षा की मांग की। घटना को अंजाम देनेवाले की पहचान कर उसपर कार्रवाई की मांग की। कहा कि हम सभी स्वस्थ्य कर्मी 24 घंटे कार्य करते हैं, उनकी सुरक्षा को लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में गार्ड की व्यवस्था हो।

बैठक में डॉ नित्यानन्द चौधरी, डॉ शीला कुमारी, डॉ दिलीप बड़ाइक, बीपीएम अखिलेश कुमार सिंह, सूर्यकांत सुधाकर,अरुण कुमार, मुकेश कुमार, मुहम्मद बलाल अंसारी,अशलम शहीत काफी संख्या में स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...