पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिला स्तरीय खनन टास्क फोर्स बैठक:अवैध खनन पर प्रशासन सख्त, कार्रवाई का दिया निर्देश

जामताड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उपायुक्त फैज अक अहमद मुमताज की अध्यक्षता में गुरुवार काे अवैध खनन एवं अवैध खनिज परिवहन तथा व्यापार की रोकथाम के लिए गठित जिला स्तरीय खनन टास्क फोर्स की बैठक की गई। बैठक में नाला थाना क्षेत्र अंतर्गत पांडेश्वर क्षेत्र, सर्वश्री ईसीएल की बंद पड़ी खदानों में अवैध कोयला खनन से बने गड्‌ढों की भराई के बारे में उपायुक्त ने जीएम पांडेश्वर से जानकारी ली। उन्होंने उपायुक्त को बताया कि अब तक 30 गड्ढों की भराई की जा चुकी हैं। अवैध खनन को लेकर अवैध तरीके से बनाए मुहानों के कारण कई तरह की समस्याएं होती हैं, दुर्घटनाएं हाेती रहती हैं।

वहीं उन्होंने इसे रोकने के लिए स्थानीय थाना से समन्वय स्थापित करते हुए अवैध खनन को रोकने हेतु मॉनिटरिंग करने तथा खनन क्षेत्रों में पेट्रोलिंग अधिक से अधिक करने का निर्देश संबंधित पदाधिकारी को दिया। उपायुक्त ने अवैध खनन पर सख्ती से कार्रवाई करने का निर्देश दिया। उन्होंने जिला परिवहन पदाधिकारी को प्रतिदिन वाहन जांच करने का निर्देश दिया । साथ ही ईसीएल चितरा से रेलवे साइडिंग में कोयला ढुलाई में प्रयुक्त वाहनों के कागजातों, नंबर प्लेट, डंफर आदि की जांच के लिए जिला परिवहन पदाधिकारी को लगातार चेकिंग अभियान चलाएं एवं नियमानुसार सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया।

बंद पड़ी खदानों में अवैध कोयला खनन वाले 30 गड्ढों की भराई

मामला दर्ज कर दाेगुनी राशि वसूल की : बैठक में जानकारी दी गई कि वित्तीय वर्ष 2022-23 में कोयला के अवैध खनन, अवैध खनिज परिवहन एवं व्यापार की रोकथाम से संबंधित कुल 18 मामले सामने आए, जिसमें सभी संबंधित मामलों में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। वहीं, पत्थर के अवैध खनन परिवहन एवं व्यापार की रोकथाम के लिए कुल 24 मामले सामने आए तथा 17 मामलों में खनिज मूल्य की दाेगुनी राशि एवं बालू खनिज के अवैध खनन हेतु कुल 23 मामले सामने आए, जिसमें 11 मामलों में प्राथमिकी तथा 12 मामलों में खनिज मूल्य की दाेगुनी राशि वसूल की गई। बालू भंडारण के 3 मामले प्रकाश में आए, जिसमें 9500 घनफीट है।

15 अक्टूबर तक बालू खनन पर पूर्णतः रोक
उपायुक्त ने बताया कि एनजीटी एक्ट के तहत10 जून से आगामी 15 अक्टूबर तक बालू खनन पर पूर्णतः रोक है। इसके लिए उन्होंने संबंधित पदाधिकारी को लगातार औचक निरीक्षण कर जब्त बालू एवं गाड़ी को सीज कर एवं आवश्यक कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश दिया। वहीं एसपी माइंस चितरा से रेलवे साइडिंग जामताड़ा तक कोयला प्रेषण की समीक्षा उपायुक्त ने की। साथ ही कहा कि औचक निरीक्षण करते रहे।

खबरें और भी हैं...