पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्यक्रम:जिले के पर्यटन स्थलों काे स्वच्छ व सुंदर बनाने के लिए चलाया जाएगा अभियान

बागडेहरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पर्यटन स्वच्छता पखवाड़ा के तहत कुंडहित मुख्यालय स्थित सिंहवाहिनी मंदिर अधिसूचित पर्यटन स्थल का साफ-सफाई एवं पौधरोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान जिला पर्यटन पदाधिकारी संतोष कुमार, अंचलाधिकारी नित्यानंद प्रसाद, प्रखंड विकास पदाधिकारी श्रीमान मंराडी, प्रमुख रामकिशोर मुर्मू, बीपीआरओ महादेव पोद्दार, प्रधान लिपिक अबरार अहमद खान, भुषण कुमार, रफीक हुसैन, जिला पर्यटन कार्यालय के बैजू झा, मुखिया विमला हांसदा, मंदिरा हेम्ब्रम, सरला मंराडी, शंकर कोड़ा, भीम हैम्ब्रम, मंदिर कमेटी के सदस्य प्रणब नायक, जयदेव मंडल, अशोक दत्ता, बबलू दत्ता, मानिक लौह एंव प्रखंड क्षेत्र के जलसहिया मुख्य रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम में सिंहवाहिनी मंदिर परिसर की साफ सफाई की गई, पाैधरोपण भी किया गया।

इसके अलावा स्वच्छता से संबंधित किट जैसे डस्टबिन, हैंडवॉश, हैंड ग्लब्स आदि मंदिर कमेटी के सदस्यों को सौंपे गए। जिला पर्यटन पदाधिकारी संतोष कुमार ने बताया कि विभागीय निर्देश के आलोक में जिले के पर्यटन स्थलों पर 16 सितंबर से आगामी 30 सितंबर तक पर्यटन स्वच्छता पखवाड़ा का आयोजन किया जायेगा। इस दौरान जिले के विभिन्न पर्यटन स्थलों एवं उसके आसपास के विद्यालयों में कार्यक्रम चलाया जायेगा। इस दौरान पर्यटन स्थलों पर आने वाले पर्यटकों व स्थानीय लोगों के बीच में नो सिंगल यूज प्लास्टिक तथा प्लास्टिक कप के स्थान पर कुल्हड़ एवं पत्ता -प्लेट का उपयोग करने हेतु जागरुकता का प्रसार किया जायेगा।

वहीं इस दौरान विभिन्न अवधियों में पर्यटन स्थलों पर स्वच्छता बनाये रखने, प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने, कचड़े को कूड़ादान में ही डालने संबंधित साइन बोर्ड लगाया जायेगा। वहीं विभिन्न पर्यटक स्थलों पर श्रमदान से प्लास्टिक वेस्ट कलेक्शन व वेस्ट कलेक्शन कराने हेतु स्वच्छता ड्राइव का आयोजन किया जाएगा। मौके पर प्रखंड विकास पदाधिकारी श्रीमान मरांडी ने बताया कि सिंह वाहिनी मंदिर आने वाले समय में इस पर्यटक स्थल को सुसज्जित किया जाएगा। ऐसे स्थल में जो भी सुविधाओं की कमी है उसे पूरा किया जाएगा।

रैली निकालकर स्वच्छता का लिया संकल्प
नाला |
नाला प्रखंड के कुलडंगाल पंचायत मुख्यालय में गुरुवार को स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम का आयोजन हुआ। जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम के दौरान स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) फेज-2 के तहत ग्रामीणों को जागरूक करने के लिए स्वच्छता रैली निकाली गई। रैली में शामिल जल सहिया एवं अन्य कर्मियों ने स्वच्छता संबंधी जानकारी दी। पंचायत सचिवालय परिसर में स्वच्छता संबंधी शपथ ग्रहण किया गया। उपस्थित कर्मी एवं नागरिकों ने आसपास क्षेत्र स्वच्छ रखने का संकल्प दोहराया।

ग्राम स्तर पर एकल प्लास्टिक के उपयोग पर पूर्णतः प्रतिबंध, घर-घर प्लास्टिक संग्रहण, स्वच्छता शपथ पत्र, ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन संस्थान तथा समुदाय स्तर पर निर्धारित गतिविधियों के बारे में जानकारी दी गई। जिसमें सूचना शिक्षा एवं लागत रहित तथा कम लागत की तकनीकी अपनाकर अपशिष्ट प्रबंधन से संबंधित ठोस एवं तरल अपशिष्ट निर्माण कार्य, कम्पोस्ट पिट, सोक फीट, वर्मी कंपोस्ट पिट, सोक पिट आदि की उपयोगिता के बारे में बताया गया।

इस मौके पर जिला समन्वयक अनुज कुमार के द्वारा प्रशिक्षित राज मिस्त्रियों को प्रायोगिक विधि से सामुदायिक सोक पिट एवं भष्मक का एस्टीमेट, प्लान, मॉडल तथा डिजाइन के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। साथ ही साथ लाभ एवं दुष्प्रभाव के संबंध में भी बताया गया। चर्चा किया गया विषय का कार्यान्वयन के लिए आवश्यक निर्देश दिया गया। इस कार्यक्रम में प्रखंड समन्वयक कृष्ण दे, मुखिया सोनहरी हेम्ब्रम, स्वच्छताग्राही गौरव कुमार झा, पंचायत समिति कमल किशोर महतो तथा बसन्ती भारती, मल्लिका नंदि,अजमिरा बीबी आदि जल सहिया व ग्रामीण काफी संख्या में उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...