पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बच्चाें काे सरकार की याेजनाओं से जाेड़नें का करें काम:बाल तस्करी पर रोकथाम व पुनर्वास को लेकर कार्यशाला का आयोजित

गिरिडीह2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कार्यक्रम में मंचासीन अतिथि। - Money Bhaskar
कार्यक्रम में मंचासीन अतिथि।

बाल तस्करी को प्रभावी रूप से रोक थाम एवं पुनर्वास कार्यक्रम के तहत शनिवार को टीडीएच फाउंडेशन स्वीट्जरलैंड के आर्थिक सहयोग से जागो फाउंडेशन गिरिडीह द्वारा प्रखण्ड सभागार पीरटांड़ में प्रमुख सह अध्यक्ष सबिता टुडु की अध्यक्षता में प्रखण्ड स्तरीय बाल संरक्षण समिति की बैठक सह कार्यशाला का आयोजन किया गया।

बैठक में मुख्य रूप से प्रखण्ड विकास पदाधिकारी सह समिति के सचिव दिनेश कुमार, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, डब्ल्यूएचओ के प्रदीप कुमार, मुखिया अनिता बर्नवाल, कौशल्या टुडु, सोमरा हांसदा, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी पीरटांड़, कुम्हरलालो, चिरकी, मधुबन, बांध एवं तुईयो पंचायत की सभी सेविकाएं उपस्थित थी।

मौके पर कार्यशाला का उद्देश्य बताते हुए जागो फाउंडेशन के राजू महतो ने कहा कि पीरटांड़ प्रखण्ड के पांच पंचायत में संस्था द्वारा बाल संरक्षण को लेकर जागरूकता का काम किया जा रहा है। जिसके तहत बाल विवाह, बाल मजदूरी, बाल तस्करी आदि समस्याओं पर रोक लगाई जा सके। कहा कि क्षेत्र में आज भी ऐसे बच्चे हैं जिन्हें मदद की आवश्यकता है।

ऐसे बच्चों को चिन्हित कर सरकार की योजनाओं से जोड़ने की आवश्यकता है। इसके लिए सरकार द्वारा ग्राम स्तर पर ग्राम बाल संरक्षण समिति का गठन किया गया है। प्रखण्ड विकास पदाधिकारी ने कहा कि गांव में रहने वाले मदद के लिए जरूरतमंद बच्चों को चिह्नित कर सूची बनाकर प्रखण्ड स्तरीय बाल संरक्षण समिति को सभी सेविकाएं उपलब्ध कराएं। साथ ही अति शीघ्र ग्राम स्तर पर ग्राम बाल संरक्षण समिति का पुनर्गठन कर नियमित बैठक सुनिश्चित करें।

प्रमुख सह अध्यक्ष सबिता टुडु ने कहा कि बच्चे हमारे देश के भविष्य है, इसलिए इनकी सुरक्षा करना सभी का दायित्व है। बच्चे का भविष्य सुरक्षित होगा तभी परिवार, समाज एवं देश खुशहाल हो पाएगा। इसके अलावा बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, डब्ल्यूएचओ के प्रदीप कुमार, चाइल्डलाइन गिरिडीह के कामेश्वर कुमार, कंचन कुमारी, ने विचार व्यक्त किए।

खबरें और भी हैं...