पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्राथमिकी दर्ज:खापरसाई में वृद्ध महिला की धारदार हथियार से मारकर हत्या

सरायकेला3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के सरायकेला थाना अंतर्गत खापरसाई गांव में 75 वर्षीय विधवा महिला की धारदार हथियार से मारकर हत्या कर दी गई है। मृतका का नाम बुधनी कुई है। घटना शुक्रवार शाम की बताई जा रही है। बुधनी पति की मौत के बाद अपनी भतीजी रांदाय बोयपाई के परिवार के साथ खापरसाई गांव में रहती थी। शुक्रवार की शाम 7:00 बजे के आसपास खाना खाकर सभी सो गए। रात 9 बजे के आसपास रांदाय बोयपाई ने देखा कि बुधनी के सिर पर चोट के निशान हैं तथा काफी मात्रा में खून बह रहा है।

उसने आसपास के लोगों को घटना की सूचना दी। इसके बाद पंचायत के मुखिया सोमा पूर्ति को भी सूचना दी गई। परंतु रात अधिक होने के कारण घटनास्थल पर कोई नहीं पहुंच पाया। सुबह 9 बजे के आसपास सरायकेला थाना को घटना की जानकारी मिली। इसके बाद थाना प्रभारी मनोहर कुमार घटनास्थल पर पहुंचे तथा मामले की जांच कर शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा।

थाना प्रभारी ने कहा कि अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करते हुए मामले की छानबीन की जा रही है। एसपी आनंद प्रकाश ने भी घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की जानकारी ली तथा हत्या में जुड़े आरोपियों की गिरफ्तारी जल्द से जल्द करने का आश्वासन दिया।

ग्रामीणों ने गांव में कैदी के शव को दफनाने का किया विरोध, प्रशासन ने चाईबासा में दफनाया

चाईबासा| चाईबासा मंडल कारा का मृत सजायाफ्ता कैदी मुरली लागुरी के शव का रात 8:00 बजे सदर अस्पताल में तीन सदस्यीय चिकित्सकों की टीम द्वारा पोस्टमार्टम किया गया इसके बाद कैदी के शव को रात भर शीत गृह में रखा गया। मृतक कैदी के गांव में अपना कोई नहीं था। जिस कारण शव को ले जाने के लिए पुलिस ने चचेरे भाई रूप सिंह लागुरी को गांव से सदर अस्पताल बुलाया, लेकिन उसने ग्रामीणों द्वारा लिए गए निर्णय से प्रशासन को अवगत कराते हुए शव ले जाने से इनकार कर दिया।

इसके बाद शनिवार को जेल प्रशासन ने स्थानीय रोरो नदी स्थित शव दाहन गृह में चचेरे भाई रूप सिंह लागुरी और सगी बहन नंदी हेंब्रम के हाथों कैदी की लाश अग्नि को समर्पित कराया। इस दौरान जेल प्रशासन तथा पुलिस मौजूद थी। पोस्टमार्टम के दौरान पता चला कि कैदी की मौत ब्रेन हेमरेज के कारण हुई है। मृतक के सिर के पीछे गहरा जख्म था। कैदी के मरने का अलग-अलग कारण बताया जा रहा है।

एक ओर जहां प्रशासन जेल से भागने के प्रयास में कूदकर गिरने से सिर में गंभीर चोट होना बता रहा है। वहीं भागने के प्रयास में पकड़े जाने पर जेल प्रशासन द्वारा पिटाई का मामला भी चर्चा में है। जेल प्रशासन इस मामले में मीडिया को कुछ भी बताने से परहेज कर रहा है। सजायाफ्ता मृत कैदी टोंटो थाना क्षेत्र के जामडीहा के मडकम पी टोली का निवासी था। ग्रामीणों ने जब कैदी की लाश को गांव में नहीं दफनाने देने का निर्णय लिया तो जेल प्रशासन ने चाईबासा स्थित शवदाहगृह में लाश को डिस्पोजल कराया।

खबरें और भी हैं...