पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सम्मान समारोह आयोजित:नीरजा कुजूर ने कहा- शिक्षक बच्चों को अच्छा नागरिक बनाने का काम जारी रखें

चाईबासा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शिक्षक विषम परिस्थितियों में भी बच्चों को गढ़ने का काम बखूबी करते हैं। इसका उदाहरण हमने कोरोना काल में देखा। ऐसे में एक शिक्षक को सम्मानित करना एक सौभाग्य की बात है। ये बातें विज्ञान शिक्षक अरुण कुमार सिंह के सम्मान समारोह में श्रद्धानंद बालिका मध्य विद्यालय में आयोजित सम्मान समारोह में बतौर मुख्य उपस्थित जिला शिक्षा पदाधिकारी नीरजा कुजूर ने कहीं। उन्होंने कहा कि उत्कृष्ट शिक्षक को सम्मानित करने का सरकार व विभाग का उद्देश्य है सभी शिक्षक अपना दायित्व का निर्वहन कर बच्चों को अच्छे नागरिक बनाने का काम जारी रखें।

मौके पर सम्मानित अरुण कुमार सिंह ने कहा कि वे जब नौकरी के प्रारंभिक दिनों में जगन्नाथपुर के आदर्श मध्य विद्यालय में विज्ञान शिक्षक के रूप में पदस्थापन हुआ था, दूसरे प्रखंड के बच्चे भी मेरे विद्यालय में नामांकन लेने लगे। चूंकि उस क्षेत्र में मैं एकमात्र विज्ञान शिक्षक थे। यही नहीं, जगन्नाथपुर इंटर कॉलेज में विद्यालय जाने से पूर्व कक्षा लिया करता था।

मौके पर बीपीओ द्वय जयपाल जामुदा, पार्थ सारथी राय, कृष्णा देवगम, उपेन्द्र सिंह, रामानुज सिंह, डॉ. सुनील कुमार, अरुण कुमार, पुष्पिका तोपनो, निर्मल त्रिपाठी, जुनोनित होरो, संजू देवगम, वंदना कुमारी, फेलिस्टिता केरकेट्टा, सीआरपी रूही अख्तर, एमआईएस को-ऑर्डिनेटर कुणाल गौतम, आदेशपाल दिसिंग कुदादा, भगवान दास तिर्की उपस्थित थे।

सेवानिवृत्त शिक्षकों को मिला सांसद का साथ
सेवानिवृत्त अप्रशिक्षित शिक्षकों का नियुक्ति तिथि से ग्रेड एक की आपसी वरीयता निर्धारण की समस्या को लेकर सांसद गीता कोड़ा सोमवार को जिला शिक्षा पदाधिकारी सह जिला शिक्षा अधीक्षक सह आरडीडी निरजा कुजूर से सेवानिवृत्त शिक्षकों के साथ मिलीं।

इस दाैरान सेवानिवृत्त शिक्षकों की समस्यायों को बताया। ज्ञात हो कि 1982 से लेकर 1988 तक एवं अनुकंपा के आधार पर 2012 तक मैट्रिक प्रशिक्षित पद के विरुद्ध नियुक्त अप्रशिक्षित शिक्षकों को शिक्षक प्रोन्नति नियमावली 1993 के अनुसार उनकी नियुक्ति तिथि से ग्रेड एक में आपसी वरीयता निर्धारित करने का निर्णय हुआ था।

इन्हीं समस्याओं को लेकर सांसद गीता कोड़ा ने शिक्षकों के संग जिला शिक्षा पदाधिकारी सह आरडीडी से मिलकर आवश्यक निर्देश दिया एवं शीघ्र समस्या के समाधान की दिशा में पहल करने की बात कही। मौके पर सांसद प्रतिनिधि धनश्याम गागराई, शिक्षक रामेश्वर सवैंया, पातर हेस्सा, भीमा हेस्सा, सिंगा बागे, सुखलाल गोप, मुरारी लाल लागुरी, घनश्याम बुड़ीउली, रूप नारायण पिंगुवा आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...