पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अंग्रेजी विषयक आचार्य प्रशिक्षण का आयोजन:बच्चों के अंग्रेजी ज्ञान को दैनिक गतिविधियों से जोड़कर भाषाई विकास पर दिया गया जोर

नोवामुंडी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विद्या विकास समिति के तत्वावधान में विषयों के संकुल स्तरीय प्रशिक्षण के आयोजन के क्रम में अंग्रेजी विषय के विस्तार एवं रुचि पूर्ण बनाने के लिए पद्मावती जैन सरस्वती शिशु मंदिर, नोवामुंडी में एक दिवसीय संकुल स्तरीय अंग्रेजी विषयक आचार्य प्रशिक्षण वर्ग आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ, विद्यालय की प्रधानाचार्या महोदया श्रीमती सीमा पालित, विद्यालय की प्रबंधन समिति के अध्यक्ष सुनील कुमार सिंह, गौरी प्रसाद रुंगटा सरस्वती शिशु विद्या मंदिर, हाट गम्हारिया के प्रधानाचार्य रमाशंकर पांडे एवं सीताराम रुंगटा सरस्वती शिशु विद्या मंदिर कोटगढ़ के प्रधानाचार्य धन बहादुर लामा द्वारा किया गया।

वंदना के पश्चात, कार्यक्रम के उद्बोधन सत्र में, गुरु मां ने अंग्रेजी शिक्षण को रुचि पूर्ण एवं व्यावहारिक बनाने हेतु, पठन-पाठ्य सामग्रियों के अधिकाधिक इस्तेमाल एवं नन्हे बच्चों के अंग्रेजी ज्ञान को दैनिक गतिविधियों से जोड़कर उनके भाषाई विकास पर जोर दिया। जगन्नाथपुर संकुल के सभी विद्यालयों से आने वाले कुल आचार्य, दीदी जी ने अलग-अलग सत्रों में अलग-अलग विषयों पर सामूहिक चर्चा की एवं इस प्रशिक्षण के दौरान, भैया-बहनों के भाषाई विकास की सुदृढ़ता के लिए पढ़ाई एवं लेखन शैली के समुचित विकास पर जोर देने की बात पर आपसी सहमति बनी। कार्यक्रम में रमाशंकर पांडे ने अंग्रेजी शिक्षा के विकास के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि अलग-अलग पारिवारिक पृष्ठभूमि से आने वाले भैया-बहनों के मनोविज्ञान को समझ कर ही उनके भाषागत ज्ञान एवं समझ को संपुष्ट किया जा सकता है। कार्यक्रम में धन बहादुर लामा ने कहा कि अंग्रेजी भाषा एक अविरल नदी के प्रवाह स्वरूप है, जिसे बदलते समय के अनुसार, नए बदलावों को आत्मसात करके नित प्रवाहित होते रहना चाहिए।

आज के प्रशिक्षण कार्यक्रम ने आचार्य दीदी जी की भाषाई समझ को और ज्यादा धारदार बना दिया है। इस प्रशिक्षण में पद्मावती जैन सरस्वती शिशु मंदिर, नोवामुंडी से वैजयंती पान दीदी एवं गायत्री सोलंकी दीदी, जगन्नाथपुर शिशु विद्या मंदिर से तानिया पड़ेया दीदी एवं विकास कुमार प्रधान, गौरी प्रसाद रुंगटा सरस्वती शिशु मंदिर, हाट गमहारिया से अभिषेक भार्गव, सीताराम रुंगटा सरस्वती शिशु मंदिर, कोटगढ से संध्या रानी प्रधान एवं पद्मावती जैन सरस्वती शिशु विद्या मंदिर जैंतगढ़ से आचार्य बृजमोहन गोप एवं ज्ञानचंद जैन सरस्वती शिशु मंदिर, बड़ाजामदा से रूपा बनर्जी दीदी इस प्रशिक्षण में सम्मिलित हुए।

खबरें और भी हैं...