पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बैठकी से विसर्जन तक हाई अलर्ट पर प्रशासन:जिले के 557 पंडालों में 20 संवेदनशील, सुरक्षा में 2500 जवान व 347 मजिस्ट्रेट रहेंगे तैनात

जमशेदपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दुर्गा पूजा के सिलसिले में कोल्हान के तीनों जिला प्रशासन की ओर से की गई तैयारी की समीक्षा शुक्रवार को कोल्हान आयुक्त मनोज कुमार ने उपायुक्त कार्यालय में की। - Money Bhaskar
दुर्गा पूजा के सिलसिले में कोल्हान के तीनों जिला प्रशासन की ओर से की गई तैयारी की समीक्षा शुक्रवार को कोल्हान आयुक्त मनोज कुमार ने उपायुक्त कार्यालय में की।

दुर्गा पूजा के सिलसिले में कोल्हान के तीनों जिला प्रशासन की ओर से की गई तैयारी की समीक्षा शुक्रवार को कोल्हान आयुक्त मनोज कुमार ने उपायुक्त कार्यालय में की। मौके पर डीआईजी अजय लिंडा समेत तीन जिलों के डीसी, एसएसपी-एसपी व अन्य प्रशासनिक पदाधिकारी उपस्थित थे। कोरोना संक्रमण की वजह से दो साल तक पूजा का आयोजन काफी सादगी भरा रहा। इसलिए इस बार श्रद्घालुओं की भीड़ पूजा पंडालों में उमड़ेगी। देश के कई हिस्सों में पूजा के दौरान धार्मिक तनाव देखने को मिला है। इसलिए दुर्गा पूजा के शुरुआती दिन से विसर्जन तक प्रशासन हाई अलर्ट पर रहेगा। प्रशासनिक तैयारी 26 सितंबर से शुरू की जा रही है।

पंडालों में एक अक्टूबर से प्रतिमा दर्शन व सजावट देखने के लिए श्रद्घालु आएंगे और 5 अक्टूबर को प्रतिमा विसर्जन होगा। कोल्हान आयुक्त ने बैठक में जिलावार लाइसेंसी-गैर लाइसेंसी पंडालों, अतिसंवेदनशील- संवेदनशील पंडाल, थाना-वार शांति समिति बैठक की स्थिति, विसर्जन मार्ग, यातायात व्यवस्था, पंडालों में व्यवस्था, अग्निशमन, एंबुलेंस, दंडाधिकारी, पुलिस बल एवं चिकित्सक प्रतिनियुक्ति, ड्राई डे, कंट्रोल रूप आदि की चर्चा की।

आयुक्त ने कहा- पूजा पंडालों में सीसीटीवी व अग्निशमन यंत्र की व्यवस्था करनी होगी। आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए तीनों जिलों में प्रशासनिक स्तर पर अग्निशमन वाहन की व्यवस्था की जाएगी। असामाजिक तत्वों के खिलाफ कार्रवाई होगी। थाना प्रभारी अपने क्षेत्र में नियमित रूप से गश्ती करेंगे। सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वाले पुलिस की रडार पर रहेंगे।

प्रशासन की ये है तैयारी

  • विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए 18 सुपर जोनल दंडाधिकारी व 32 जोनल दंडाधिकारी की तैनाती रहेगी। 261 स्टेटिक दंडाधिकारी व 36 पेट्रोलिंग दस्ता सक्रिय रहेगा।
  • पूजा के दौरान जिला पुलिस के 1000 जवान, 150 एनसीसी कैडेट, 150 सिविल डिफेंस के सदस्य, रैपिड एक्शन पुलिस व रैपिड एक्शन फोर्स की एक कंपनी (100 जवान) तैनात रहेंगे।
  • दूसरे जिलों से झारखंड पुलिस के 500 जवान व 500 होमगार्ड जवान की तैनाती रहेगी।
  • साकची सीसीआर में जिला स्तरीय कंट्रोल रूम बनेगा। इसके अलावा घाटशिला अनुमंडल मुख्यालय, जेएनएसी, मानगो नगर निगम व जुगसलाई नगर परिषद में कंट्रोल रूप बनेगा।
  • पंडालों में बैरिकेडिंग, ड्रॉप गेट, कचरा उठाव एवं डस्टबिन की व्यवस्था होगी।
  • पंडालों के समीप स्टेज का निर्माण, नो प्लास्टिक-नो स्मोकिंग के लिए जागरूकता अभियान चलेगा। माइकिंग, सीसीटीवी कैमरे, लाइट व चलंत शौचालय की सुविधा रहेगी।
  • 30 सितंबर को दण्डाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी को डीसी विजया जाधव -एसएसपी प्रभात कुमार ब्रीफिंग करेगे।

आयुक्त ने कोल्हान में नशाखोरी को रोकने पर भी तीनों जिले के प्रशासनिक अधिकारियों संग चर्चा की। तय हुआ- तीनों जिला में नशामुक्ति के लिए चलाए जा रहे एंट्री ड्रग कैंपेन में स्कूल-कॉलेज के विद्यार्थियों, अभिभावको, एसएचजी से जुड़ी महिलाओं व क्षेत्र में सक्रिय एनजीओ की सहायता ली जाएगी। आयुक्त ने कहा- नशामुक्ति के लिए एसओपी तैयार किया जाएगा। इसे तीनों जिलों में सामान्य रूप से लागू किया जाएगा।

ये निर्णय भी लिए गए

  • स्कूल-कॉलेज, कंपनी गेट, बाजार, भीड़भाड़ वाले स्थल, पर्यटन स्थलों, जेल एवं जुवेनाइल ऑब्जर्वेशन सेंटर में नशा मुक्ति को लेकर व्यापक जागरूकता कार्यक्रम चलेगा।
  • नशा के आदि हो चुके लोगों का उपचार-पुनर्वास, नशामुक्त हुए लोगों का स्किल डेवलपमेंट, वोकेशनल ट्रेनिंग तथा आजीविका के साधन उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • नशामुक्ति के लिए तीनों जिला के लिए अलग-अलग हेल्प लाइन नंबर जारी किया जाएगा, ताकि लोग ड्रग कारोबारियों के बारे में जानकारी पुलिस को दे सकें।
  • कोल्हान व जिलास्तर पर डेडिकेटेड टीम का गठन किया जाएगा।
खबरें और भी हैं...