पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Himachal
  • Una
  • Leader Of Opposition Retaliated On CM, Said We Are The Leaders Of Congress Legislature Party, The Situation Has Made You CM, Now People Will Send Home

नेता प्रतिपक्ष का CM पर पलटवार:बोले- हम तो कांग्रेस विधायक दल के नेता, आपको हालात ने बनाया CM, अब जनता भेजेगी घर

ऊना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री।

हिमाचल प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने CM जयराम ठाकुर पर जवाबी पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि CM कांग्रेस की चिंता करना छोड़ दें। हमारे विधायक कम हैं, इसलिए विपक्ष के नेता हैं। लेकिन, जयराम न तो विधायक दल के नेता और न ही CM चेहरे थे। उन्हें हालातों ने CM बनाया है। ये बात उन्हें याद रखनी चाहिए।

अग्निहोत्री ने कहा कि जयराम सरकार की अपनी कोई उपलब्धि नहीं है। तभी चुनावी साल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय नेताओं को बुला रहे हैं। कांग्रेस पिछले साल हुए चारों उपचुनाव में CM को ट्रेलर दिखा चुकी है। इसलिए CM व BJP नेतृत्व को समझ लेना चाहिए कि हिमाचल की जनता जुमलों में आने वाली नहीं है। कहा कि CM हिमाचल को कर्ज के दलदल में धकेल चुके हैं।

कहा कि जयराम तो हमें पागलपन के दौरे पड़ने की बातें कर रहे हैं। जबकि, पागलपन के दौरे तो CM को पड़ रहे हैं। जो सुबह ही हेलीकॉप्टर उठाकर निकलते हैं और 500 व 200 करोड़ के शिलान्यास कर बौखला चुके हैं। कहा कि जयराम ठाकुर को प्रदेश के सबसे असफल CM के रूप में जाना जाएगा। जिस सरकार में पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर बिका हो, उसके CM को नौकरी बेचने वाले का तगमा मिलेगा।

अग्निहोत्री ने कहा कि जिन युवाओं पर केस दर्ज किए गए हैं। कांग्रेस सरकार बनने पर बिना शर्त मुकदमों को वापस लिया जाएगा। अग्निपथ के विरुद्ध युवा सड़कों पर हैं। सरकार तानाशाही से निर्णय थोपना चाहती है। लेकिन, 4 साल की नौकरी युवाओं के हितों से खिलवाड़ है। अगर इसमें सुधार की गुंजाइश हो तो की जानी चाहिए।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि कांग्रेस एकजुटता से जनता के हितों की लड़ाई लड़ रही है। जयराम सरकार का सत्ता से बाहर जाना पक्का है। अब रिवाज नहीं, बल्कि जनता हालात बदलकर सरकार बदलेगी। कांग्रेस बहुमत से प्रदेश की सत्ता पर काबिज होगी। आते ही भाजपा सरकार के 5 साल के निर्णयों की समीक्षा होगी। जो निर्णय जनता के विरुद्ध होंगे, उन्हें वापस लिया जाएगा।