पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मंकी कैचिंग टीम की कार्रवाई:वन मण्डल पांवटा में पकड़े 116 बंदर, बदरों ने किया था कुछ दिन पहले SDM पर हमला

पांवटा साहिब2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पांवटा साहिब में बंदर पकड़ने वाली विशेष टीम के सदस्य। - Money Bhaskar
पांवटा साहिब में बंदर पकड़ने वाली विशेष टीम के सदस्य।

हिमाचल के जिला सिरमौर के पांवटा साहिब में बंदर पकड़ने के लिए विशेष टीम ऊना से बुलाई गई है। इस टीम ने पांवटा साहिब की विभिन्न कॉलोनियों में जाकर बंदरों को पकड़ने की मुहिम चला रखी है। पिछले 1 सप्ताह से करीब 116 बंदरों को पकड़कर उनकी नसबंदी की जा रही है। नसबंदी करने के लिए पांवटा स्थित मंकी स्टरलाइजेशन सेंटर में भेजा गया। नसबंदी करने पश्चात बंदरों को जंगल में छोड़ा गया है। मंकी कैचिंग अभियान के दौरान पांवटा अनाजमंडी क्षेत्र, गुलाबगढ़ व शहर में बंदर पकड़े गए।

बंदरों के द्वारा मंकी कैचिंग वाहन व टीम की पहचान करने के कारण एक समय के बाद बंदर पकड़ने की रफ्तार कम हो जाती है इसलिए बंदर पकड़ने के अभियान का अगला चरण सितंबर माह के अंत में शुरू किया जाएगा। वन विभाग ने बंदरों को खाना न देने व नगर पालिका से शहरी क्षेत्र में खुले में फैले कचरे का तुरंत निराकरण करने की अपील की है ।

बदरों का लगातार बढ़ रहा था आतंक

गौरतलब है कि पांवटा साहिब में बंदरों के आतंक के चलते कई लोग छतों से गिर चुके हैं और बुरी तरह घायल भी हुए हैं इसके अलावा कई बच्चे बुजुर्ग महिलाएं भी इनका शिकार हुई है शहरी क्षेत्र में कुछ एरिया तो ऐसे हैं। जहां पर छतों पर बंदरों ने कब्जा कर लिया है और 20 से 30 बंदर इकट्ठा होकर लोगों को न केवल डराते हैं बल्कि हमला भी कर देते हैं। पिछले दिनों पांवटा साहिब के SDM पर भी बंदरों ने हमला किया गया था।डीएफओ कुणाल अग्रिश ने 116 बंदरों को पकड़ने की पुष्टि की है।