पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गिरिपार में खुशी की लहर:ट्रांस गिरी क्षेत्र को मिला अनुसूचित जनजाति का दर्जा, मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया

नहान2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गिरिपार क्षेत्र को की जनजातीय दर्जा मिलने का बाद खुशी मनाते लोग। - Money Bhaskar
गिरिपार क्षेत्र को की जनजातीय दर्जा मिलने का बाद खुशी मनाते लोग।

हिमाचल के सिरमौर जिला के ट्रांस गिरी क्षेत्र के लोगों को अनुसूचित जनजाति का दर्जा प्रदान किया गया है। इस बारे में प्रधानमंत्री कार्यालय से बुधवार को पत्र जारी किया गया। इस बारे में आदेश जारी होने के बाद गिरिपार में खुशी की लहर है। नाहन में भी गिरीपार क्षेत्र के लोगों ने खुशी मनाई। केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने आज नई दिल्ली में आयोजित बैठक में इसे स्वीकृति प्रदान की।

केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने आज नई दिल्ली में आयोजित बैठक में स्वीकृति प्रदान की ।
केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने आज नई दिल्ली में आयोजित बैठक में स्वीकृति प्रदान की ।

1.60 लाख से अधिक की आबादी होगी लाभान्वित

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने गिरिपार क्षेत्र को की जनजातीय दर्जा देने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने ट्रांस गिरी क्षेत्र के लोगों को पड़ोसी राज्य उत्तराखंड के लोगों के समान अनुसूचित जनजाति का दर्जा प्रदान करने की चिर लम्बित मांग को पूरा किया है। इन क्षेत्रों की संस्कृति और भौगोलिक स्थिति एक-दूसरे से मिलती-जुलती है। उन्होंने कहा कि इस ऐतिहासिक निर्णय से सिरमौर जिले की 1.60 लाख से अधिक की आबादी लाभान्वित होगी।

यह निर्णय क्षेत्र के लोगों की समृद्ध संस्कृति और परम्पराओं के संवर्द्धन और क्षेत्र के विकास को गति प्रदान करने में सहायक सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने सत्ता में आने के पश्चात केन्द्रीय नेतृत्व के समक्ष इस मामले को प्रभावी ढंग से रखा था। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह और अन्य केन्द्रीय नेतृत्व ने हाटी समुदाय के इस भावनात्मक मुद्दे में विशेष रूचि व्यक्त की थी।