पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हिंदू देवताओं पर टिप्पणी करने वाले रिहा:नसीम नाज और अरमान मलिक को मिली जमानत; DSP बोले- बेलेबल क्राइम था, इसलिए छोड़ा

पौंटा साहिबएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नसीम नाज और अरमान मलिक। - Money Bhaskar
नसीम नाज और अरमान मलिक।

हिंदू देवताओं पर अभद्र टिप्पणी करने वाले दोनों आरोपियों नसीम नाज और अरमान को पुलिस ने देर रात जमानत पर रिहा कर दिया गया है। DSP ने कहा कि यह अपराध जमानती था, इसलिए उनको रिहा किया गया है।

गौरतलब है कि जिला सिरमौर के पांवटा साहिब थाने में हिंदू संगठनों की ओर से गत दिनों भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के मंडल अध्यक्ष नसीम नाज और मुस्लिम अरमान मलिक के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार भी कर लिया था।

इसके बाद माजरा थाने में माहौल तनावपूर्ण हो गया, क्योंकि आरोपी इसी क्षेत्र का रहने वाला है, इसलिए लोगों ने भी माजरा बाजार में और थाने के बाहर नारेबाजी की थी। लोगों के इस तरह जमा होने के बाद अतिरिक्त पुलिस फोर्स तैनात की गई थी।

इन्होंने करवाया था मामला दर्ज

संजय सिंघल, अजय संसरवाल, विवेक सैणी, मंयक महावर, हेमन्त शर्मा, सचिन ओबराय, वैभव गुप्ता और गर्वित गुप्ता आदि ने मामला दर्ज करवाया। शिकायत में कहा गया कि आराध्य देवता शिव के स्वरुप शिवलिंग को बहुत ही गन्दे और अभद्र तरीके से एक टॉयलेट के साथ जोड़ा गया है।

इससे धार्मिक भावना आहत हुई है। इस तरह की टिप्पणी दंगे एवम सामाजिक क्लेश को भड़काने के लिए की गई है। असामाजिक तत्व जान बूझकर दंगा भड़काने के लिए ऐसी टिप्पणी कर रहे हैं। डीएसपी वीर बहादुर सिंह ने कहा कि दोनों आरोपियों को जमानत पर रिहा कर दिया है। इनके खिलाफ जमानती अपराध का मामला दर्ज था।