पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हाटी को ट्राइबल का दर्जा देकर चला 'मास्टर स्ट्रोक':चुनावी साल में सिरमौर जिला को बड़ी सौगात; पांचों विधानसभा क्षेत्रों में पड़ेगा असर

शिमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ट्राइबल का दर्जा मिलने के बाद हाटी समुदाय के लोग खुशी मनाते हुए।

केंद्र की मोदी सरकार ने चुनावी साल में हाटी समुदाय को ट्राइबल का दर्जा देकर मास्टर स्ट्रोक चला है। माना जा रहा है कि सिरमौर जिला के पांचों विधानसभा क्षेत्रों की जनता को ट्राइबल स्टेटस मिलने से फायदा होगा। साल 2011 के जनगणना आंकड़ों के अनुसार सिरमौर जिला की कुल आबादी 5,29,855 है। इनमें से लगभग तीन लाख की आबादी को अब ट्राइबल स्टेटस मिलेगा।

हाटी समुदाय को इसका सरकारी नौकरी इत्यादि में इसका लाभ मिलना तय है। राजनीतिक पंडित मानते हैं कि इससे भाजपा को भी विधानसभा चुनाव में फायदा मिलेगा। शिलाई विधानसभा क्षेत्र की शत-प्रतिशत आबादी को जनजातीय का दर्जा मिलेगा। इसी तरह श्री रेणुका जी और पच्छाद विधानसभा क्षेत्र की 80 फीसदी से ज्यादा आबादी को लाभ मिलना तय है।

पांवटा साहिब विधानसभा की लगभग 50 प्रतिशत आबादी को भी ट्राइबल स्टेटस मिलेगा। वहीं नाहन विधानसभा क्षेत्र ट्रांसगिरी से बाहर है, लेकिन जिला का मुख्यालय होने के नाते यहां भी पूरे जिलाभर से लोग आकर बसे हुए हैं। लिहाजा यहां भी हाटी समुदाय के लोग भाजपा सियासी समीकरण बदल सकते हैं।

क्या फायदा होगा?

हाटी को ST का दर्जा मिलने के बाद सरकारी क्षेत्र में नौकरी के अलावा छात्रों को प्रमुख योजनाओं में छात्रवृत्ति, राष्ट्रीय प्रवासी छात्रवृत्ति, राष्ट्रीय फैलोशिप, उच्च श्रेणी की शिक्षा, राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति वित्त और विकास निगम से रियायती ऋण, अनुसूचित जनजाति के लड़कों और लड़कियों के लिए छात्रावास, सरकारी नीति के अनुसार सेवाओं में आरक्षण और शैक्षणिक संस्थानों में प्रवेश के लाभ मिलेंगे।

हिमाचल में ST की आबादी हो जाएगी 7 लाख पार

राज्य में अभी तक लाहौल स्पीति, किन्नौर और चंबा के कुछ क्षेत्रों को ट्राइबल का दर्जा हासिल है। इन क्षेत्रों में 2011 की जनगणना के अनुसार 3.92 लाख की जनजातीय आबादी है, जबकि राज्य की कुल आबादी 68.15 लाख है। यानी कुल जनसंख्या की 5.7 फीसदी आबादी ट्राइबल है। सिरमौर के हाटी समुदाय को जनजातीय का दर्जा नोटिफाई होने के बाद राज्य में ट्राइबल आबादी लगभग सात लाख के आसपास हो जाएगी, जो कुल आबादी का 12 फीसदी से ज्यादा हो जाएगी।

अमित शाह की जल्द हो सकती है रैली

भारतीय जनता पार्टी जल्द सिरमौर के गिरीपार क्षेत्र में गृह मंत्री अमित शाह की जल्द विशाल आभार रैली कर सकती है। इसकी लंबे समय से तैयारियां भी चल रही है। कैबिनेट की मंजूरी के बाद जल्द केंद्रीय गृह मंत्रालय इस रैली का शेड्यूल जारी कर सकता है।

SC समुदाय खफा

कैबिनेट द्वारा ट्राइबल का दर्जा मिलने के बाद हाटी समुदाय उत्साहित है, लेकिन अनुसूचित जाति (SC) समाज इस निर्णय से खफा भी है। सिरमौर जिला में SC समुदाय के लोग हाटी को ट्राइबल का विरोध करते रहे हैं। इसके लिए क्षेत्र के लोग काफी संख्या में लामबद्ध भी हुए हैं। इन्हें लग रहा है कि हाटी को ट्राइबल का स्टेटस मिलने से एससी समुदाय के लोगों के अधिकारी मारे जाएंगे।

खबरें और भी हैं...