पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शिक्षा विभाग ने 250 स्कूलों को दिया नोटिस:बीत गई अंतिम तारीख, दस्तावेजों की कमी से अटक गया 200 बच्चों का एडमिशन

रोहतक8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नियम 134 ए के अंतर्गत परीक्षा उत्तीर्ण करने के बावजूद विद्यार्थियों का दाखिला नहीं हो पाया है। - Money Bhaskar
नियम 134 ए के अंतर्गत परीक्षा उत्तीर्ण करने के बावजूद विद्यार्थियों का दाखिला नहीं हो पाया है।

नियम 134 ए के अंतर्गत परीक्षा उत्तीर्ण करने के बावजूद विद्यार्थियों का दाखिला नहीं हो पाया है। इसके लिए कभी टाला जा रहा तो कभी तरह-तरह के अड़ंगे लगाए जा रहे हैं। अब दाखिले के अंतिम दिन भी 200 बच्चों के एडमिशन को दस्तावेजों की कमी बताकर अटका दिया है। इस पर शिक्षा विभाग ने मनमानी करने वाले 250 स्कूलों को नोटिस भेजा है और दाखिला नहीं करने का कारण बताने का जवाब मांगा है।

1797 बच्चों में से 620 के दाखिले हो पाए, अभिभावक और बच्चे परेशान
यह बात भी है कि परीक्षा पास कर लेने वाले बच्चे शुरूआती समय से ही दाखिले लिए भटकते रहे हैं। इनके अभिभावकों ने कई बार विरोध प्रदर्शन किए। अभिभावकों के खूब शोर मचाने के बाद स्कूलों ने एडमिशन लेना शुरू किया गया। इसके बाद भी बहानेबाजी चलती गई। काफी दिनों के बाद गिनती के बच्चों के दाखिले करने लगे। इसमें पहले ही अंतिम डेट कई बार निकली, जो अभिभावकों के हंगामे के बाद बढ़ती रहीं। इस कड़ी में एक बार फिर से दाखिले के अंतिम तिथि बढ़ाकर 15 जनवरी कर दी गई थी।

इसमें भी अभिभावक दाखिले के लिए स्कूलों में पहुंचते रहे लेकिन कुछ न कुछ कारण बताकर उन्हें लौटाया जाता रहा। शनिवार को अंतिम दिन भी वही रटा-रटाया राग अलाप दिया और 200 बच्चों के बच्चों के दस्तावेजों में खामी बताकर एडमिशन करने से इंकार कर दिया गया। जबकि अभिभावक काफी समय से दस्तावेज लेकर घूम रहे हैं और स्कूल इन्हें देख भी चुका है। आखिरी समय तक भी दस्तावेज की कमी बताकर स्कूलों की मंशा को साफ जाहिर करता है।

नियम 134 ए के तहत 1797 बच्चों में से 620 के दाखिले हो पाए हैं। जबकि अभी तक 977 बच्चों को दाखिला नहीं मिल पाया है। शिक्षा विभाग के नोटिस को टालना भी स्कूलों के लिए ज्यादा मुश्किल नहीं लगता। क्योंकि पहले भी कई बार विभाग स्कूलों को चेतावनी दे चुका है लेकिन नतीजा यह है कि सभी बच्चों के दाखिले नहीं हो पाए हैं।

खबरें और भी हैं...