पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आज से शारदीय नवरात्रि आरंभ:रोहतक में गूंज रहे जयकारे; सजे माता के दरबार; देवी के 9 अवतारों की पूजा के लिए श्रद्धालु तैयार

रोहतक4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सोमवार से शरदीय नवरात्र आरंभ हो गए। जिसके बाद अब लगाता 9 दिनों तक देवी मां के अलग-अलग नौ अवतारों की पूजा की जाएगी। नवरात्रों को लेकर मंदिरों में पहले से ही तैयारी चल रही थी। मंदिरों को भी सजाया गया है। जहां देवी मां की पूजा की जाएगी। नवरात्रों को लेकर भक्तों में भी उत्साह है, क्योंकि कोरोना महामारी के कारण काफी समय से बड़े स्तर पर धार्मिक व सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं हो पा रहे थे।

नवरात्रों का असर बाजार पर भी दिखााई दे रहा है। बाजार में भी दुकानें माता के श्रंगार से सजी हुई हैं। वहीं नवरात्रों पर पूजा-पाठ के लिए भक्त माता के श्रंगार व अन्य सामग्री की जमकर खरीददारी कर रहे हैं, खासकर महिलाएं। नवरात्रों के दौरान व्रत का भी विशेष महत्व है। साथ ही नवरात्रों का असर फलों पर भी दिखाई देने की उम्मीद है।

मंदिर में स्थापित माता की प्रतिमा
मंदिर में स्थापित माता की प्रतिमा

नवरात्र में देवी मां के अलग-अलग नौ अवतारों की पूजा की जाती है। नौ दिनों तक घर में माता के कलश की स्थापना होगी और धूप, दीप, हवन किया जाएगा। नवरात्र 26 सितंबर से आरंभ होने जा रहे हैं। सोमवार को अश्विन शुक्ल पक्ष एकम को घटस्थापना के मुहूर्त प्रात: 6 बजकर 31 मिनट से 7 बजकर 30 मिनट तक है। वहीं दिवा सुबह 9 बजे से 11 बजे तक शुभ है। साथ ही अभिजित वेला दिवा 12 बजक 41 मिनट से दोपहर 2 बजकर 45 मिनट तक है।

शरदीय नवरात्र में नक्षत्रों का दुर्लभ संयोग बन रहा है। नवरात्रों का आरंभ शुक्ल और ब्रह्म योग से हो रहा है। हिंदू पंचांग के अनुसार सोमवार सुबह 8 बजकर 6 मिनट तक शुक्ल योग बन रहा है। जबकि 26 सितंबर 8 बजकर 6 मिनट से 27 सितंबर सुबह 6 बजकर 44 मिनट तक ब्रह्म योग बना रहेगा।

इन देवियों की होगी पूजा

  • एकम को शैलपुत्री
  • द्वितीया को ब्रह्मचारिणी
  • तृतीया को चंद्रघंटा
  • चतुर्थी को कूष्माण्डा
  • पंचमी को स्कंदमाता
  • छठी को कात्यायनी
  • सप्तमी को कालरात्रि
  • अष्टमी को महागौरी
  • नवमी मो सिद्धिदात्री