पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रोहतक की शनन NDA परीक्षा में महिला टॉपर:ओवरऑल 10वीं रैंक हासिल की, देशभर में 51 बेटियां चुनीं गईं

रोहतक3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा में रोहतक जिले के गांव सुडाना की बेटी शनन ढाका ने एनडीए परीक्षा में लड़कियों में पहली रैंक प्राप्त की है। वहीं उन्हें ओवरऑल 10वीं रैंक प्राप्त की है। सरकार के NDA में लड़कियों को प्रवेश देने की घोषणा के बाद हुई परीक्षा में देशभर से शनन समेत कुल 51 लड़कियों का चयन हुआ है। इनमें से अंतिम रूप से 19 का चयन किया जाना है।

​​​​​​​शनन की उपलब्धि के बाद परिवार में खुशी का माहौल है और लोग लगातार उन्हें बधाई दे रहे हैं।

शनन ने पिता और बड़ी बहन को सेना में सेवा करते देखकर ही NDA में जाने का मन बनाया। इसके बाद 40 दिन में 10-12 घंटे तैयारी के बाद यह लिखित परीक्षा पास की। पिता विजय कुमार ने भी बेटी को आर्मी में जाने के लिए प्रेरित किया।

यूपीएससी की कर रही थी तैयारी
शनन ने बताया कि वह यूपीएससी की तैयारी कर रही थी। जैसे ही NDA में महिलाओं को प्रवेश की अनुमति मिली तो उन्होंने भी आवेदन कर दिया। इसके बाद करीब 40 दिन तैयारी करने का मौका मिला। 40 दिन बाद 14 नवंबर को परीक्षा हुई। परीक्षा पास करने के बाद पांच दिन के इंटरव्यू में भी उसका अच्छा प्रदर्शन रहा और NDA में चयन हुआ। दिल्ली के लेडी श्रीराम कॉलेज से बीए की पढ़ाई भी कर रही हैं।

परिवार के साथ सेल्फी लेतीं शनन ढाका।
परिवार के साथ सेल्फी लेतीं शनन ढाका।

पिछले वर्षों के पेपर पढ़कर पास की परीक्षा
शनन ने बताया कि उसने एनडीए परीक्षा से पहले पिछले करीब 10 वर्षों के प्रश्न पत्रों को देखा। उन प्रश्न पत्रों को पढ़ा और खुद हल करके देखा। परीक्षा में ढाई घंटे का समय दिया जाता है। उसका लक्ष्य दो घंटों में पेपर हल करना था, ताकि जब वह परीक्षा में बैठे तो किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो। पिछले वर्षों के पेपर देखकर उस परीक्षा की जानकारी मिली। साथ ही परीक्षा में आने वाले पाठ्यक्रम को ही ध्यान से पढ़ा।

SSB इंटरव्यू में बनावटी व्यवहार न करें
शनन ने बताया कि पांच दिन तक चलने वाले SSB इंटरव्यू में सभी के व्यवहार को अच्छे से देखा जाता है। इसलिए बनावटी व्यवहार नहीं करना चाहिए। शनन कहती हैं कि सचाई के साथ इंटरव्यू में भाग लें, ऐसा ही उन्होंने किया। इसकी बदौलत उनका इंटरव्यू भी अच्छा हुआ था। इंटरव्यू को अधिक बोझ नहीं मानना चाहिए, बल्कि सामान्य रूप से ही लें।

बड़ी बहन भी मिलिट्री में नर्सिंग अफसर
शनन के पिता विजय कुमार आर्मी से सेवानिवृत्त हैं। विजय कुमार की तीन बेटियां है। शनन ढाका तीनों बहनों में मझली हैं। बड़ी बहन जोनून ढाका मिलिट्री में नर्सिंग अफसर के पद पर तैनात हैं। उनकी ट्रेनिंग लगभग पूरी हो चुकी है। वहीं छोटी बहन अशी अभी पांचवीं कक्षा में पढ़ रही है।