पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गाड़ी से कुचलकर व्यक्ति की हत्या:पलवल में बेटे के मर्डर केस में होनी थी गवाही; शव नहीं लेने पर अड़े परिजन

पलवल3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के पलवल में मंगलवार रात को गाड़ी से कुचलकर एक व्यक्ति की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई। मृतक राजवीर के बेटे की 11 महीने पहले हत्या की गई थी, वह उसमें मुख्य गवाह था। हत्यारोपी उसे केस में गवाही न देने के लिए धमकी दे रहे थे। पुलिस ने मृतक के भाई की शिकायत पर 10 के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। बुधवार सुबह नागरिक अस्पताल में शव के पोस्टमार्टम के दौरान परिजनों ने हत्यारोपियों की गिरफ्तारी न होने तक शव लेने से इंकार कर दिया।

पलवल के गांव कौंडल निवासी जगदीश ने पुलिस को दी शिकायत में कहा है कि उसके भाई राजवीर के पुत्र सत्यम की करीब 11 महीने पहले गांव के कुछ युवकों ने मिलकर हत्या कर दी थी। हत्या वॉलीबॉल मैच खेलने के दौरान की गई थी। बेटे की हत्या के मामले में उसका भाई राजवीर मुख्य गवाह था। इसमें 14 आरोपियों को नामजद किया गया था, लेकिन अभी तक सात आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार नहीं कर पाई थी। बेटे की हत्या के केस में अब राजवीर की गवाही होनी थी। बेटे के हत्यारोपियों की ओर से उसे बेटे की हत्या के मामले में गवाही न देने के लिए धमकाया जा रहा था।

अस्पताल में जमा मृतक राजवीर के परिजन और अन्य। हत्यारोपियों की गिरफ्तारी न होने तक इन्होंने शव लेने से इंकार कर दिया।
अस्पताल में जमा मृतक राजवीर के परिजन और अन्य। हत्यारोपियों की गिरफ्तारी न होने तक इन्होंने शव लेने से इंकार कर दिया।

जयंती मोड पर पड़ा मिला शव

जगदीश ने बताया कि 17 मई को उसका भाई राजवीर किसी काम से बाइक पर सवार होकर हथीन गया था। उसके पास देर रात एक व्यक्ति का फोन आया कि राजवीर जयंती मोड अंधरोला सडक पर पड़ा हुआ है। सूचना मिलते ही वह मौके पर पहुंचा तो देखा कि वहां भीड़ जाम थी और उसका भाई सडक पर मृत हालत में पड़ा हुआ था। आसपास के लोगों ने बताया कि वे सडक किनारे काम कर रहे थे तो हथीन की तरफ से आई एक गाडी ने जान बूझकर बाइक सवार को पीछे से टक्कर मार दी।

गिरने पर कई बार कुचलता

जगदीश का आरोप है कि गाड़ी की टक्कर से राजवीर नीचे गिर गया ओर इसके बाद चालक ने गाड़ी को कई बार आगे पीछे करके उसके भाई राजवीर को कुचल कर मार डाला। उसे पूरा शक है कि उसके भाई की हत्या कौंडल गांव निवासी प्रिंस, भूषण, शेर सिंह, अशोक पुत्राण सुनहरी, ललित पुत्र अमर सिंह, सचिन पुत्र पाला, संजय पुत्र बेदन, अर्जुन पुत्र रणधीर, सुमित पुत्र नरवीर व खेडीकला गांव निवासी पवन पुत्र बाबू लाल ने षडयंत्र के तहत की है।

जयंती मोड के पास पड़ी मृतक राजवीर की बाइक।
जयंती मोड के पास पड़ी मृतक राजवीर की बाइक।

मोर्चरी के बाहर धरने पर परिजन

राजवीर के शव को रात को ही नागरिक अस्पताल में पहुंचाया गया। सुबह शव का पोस्टमार्टम होना था, लेकिन परिजनों ने पोस्टमार्टम के बाद शव लेने से इंकार कर दिया। वे अस्पताल की मोर्चरी के बाहर ही धरने पर बैठे हैं। परिजनों का कहना है कि पहले पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार करे, तब शव लेंगे। यदि पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो वे शव को लेकर प्रदेश के गृहमंत्री अनिल विज के निवास पर जाएंगे और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करेंगे।

केस दर्ज, गिरफ्तारी नहीं

हथीन थाना प्रभारी जसबीर ने बताया कि कौेंडल में हुई राजवीर नामक व्यक्ति की हत्या के मामले में मृतक के भाई जगदीश की शिकायत के आधार पर पुलिस ने दस लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास कर रही है।