पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रेवाड़ी में आज फिर चला बुल्डोजर:4 एकड़ जमीन हुई अवैध कब्जा मुक्त; बाधा डालने वालों पर FIR दर्ज

रेवाड़ी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शनिवार को रेजांगला पार्क की जमीन पर बने पक्के मकानों को तोड़ते हुए।

हरियाणा के रेवाड़ी जिले में रेजांगला पार्क की 20 एकड़ जमीन को कब्जा मुक्त कराने के लिए शनिवार को भी हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण का बुल्डोजर चला। इस दौरान बड़ी संख्या में वहां बने पक्के मकान और दुकानों को तोड़ा गया। अभी तक 4 एकड़ जमीन कब्जा मुक्त हुई है। कार्रवाई के दौरान ड्यूटी मजिस्ट्रैट, एचएसवीपी के अधिकारी और मॉडल टाउन थाना प्रभारी रतनलाल भारी पुलिसफोर्स के साथ मौजूद रहे। वहीं शुक्रवार की देर तोड़फोड़ की कार्रवाई के दौरान कुछ लोगों ने बाधा डालने की कोशिश की, जिनके खिलाफ मॉडल टाउन थाना में एफआईआर दर्ज कराई गई है।

मौके पर मौजूद पुलिस फोर्स।
मौके पर मौजूद पुलिस फोर्स।

एचएसवीपी के ईओ विजय राठी और जेई गौरव ने बताया कि शुक्रवार को ड्यूटी मजिस्ट्रेट प्रवीण कुमार के नेतृत्व में जमीन पर बनाए गए पक्के मकान और दुकानों को तोड़ा गया। इस दौरान बाबूलाल, नरेन्द्र यादव, राजेन्द्र, सतबीर, रमेश, सतीश, हेमंत व दीपेश सरकारी काम में बाधा पहुंचाने के लिए तोड़फोड़ की कार्रवाई का विरोध करने पहुंच गए। काफी महिलाओं के साथ अतिक्रमण हटाओ की कार्रवाई में बाधा डाली। मॉडल टाउन पुलिस ने एचएसवीपी के अधिकारियों की शिकायत पर 8 नामजद सहित अन्य लोगों के खिलाफ धारा 147,149,186,188 केस दर्ज कर लिया है।

अवैध रूप से बनी मार्केट और मकानों को तहस-नहस कर दिया है।
अवैध रूप से बनी मार्केट और मकानों को तहस-नहस कर दिया है।

बता दें कि वर्ष 2011 में शहर के सबसे पॉश गढ़ी बोलनी रोड पर सेक्टर-19 में रेजांगला पार्क के लिए एचएसवीपी की तरफ से 48 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया गया था। जिसमें 8 एकड़ जमीन रिलीज कर दी गई थी। फिलहाल यह पार्क 10 एकड़ में ही विकसित है। बची हुई जमीन खाली पड़ी थी, जिसपर कई सालों में अवैध कब्जे हो गए।

इसमें कई एकड़ जमीन पर तो कब्जाधारी खेती भी करते रहे। जबकि काफी जमीन पर पक्के मकान और दुकानें बन गई। यहां तक की झुग्गी और मकान बनाकर रहने वाले लोगों से कुछ लोग किराया तक वसूलते रहे। इसके बाद सेक्टर के लोगों ने आवाज बुलंद की। ताजुब की बात यह है कि अपनी ही जमीन से कब्जा हटाने के लिए एचएसवीपी ने कभी गौर नहीं किया।

पिछले 4 माह से सेक्टर के लोग 20 एकड़ से ज्यादा जमीन पर अवैध कब्जा छुड़ाने को लेकर प्रशासन से लेकर सरकार तक गुहार लगाते रहे, लेकिन कही सुनवाई नहीं हुई। कुछ दिन पहले ही यह मामला डीसी अशोक कुमार गर्ग के पास पहुंचा था। डीसी ने इस मामले को लेकर एचएसवीपी के अधिकारियों के साथ बैठक कर जमीन को कब्जा मुक्त कराने के आदेश दिए थे।

डीसी के आदेश पर एचएसवीपी की टीम ने शुक्रवार से कई बुल्डोजर के साथ तोड़फोड़ की कार्रवाई शुरू कर दी है। शनिवार को भी पूरे दिन यह तोड़फोड़ की कार्रवाई जारी रहेगी।